मिलर्स ने शुरू किया धान का उठाव

मिलर्स की ओर से धान खरीदी समितियों से धान का उठाव करने के बाद आखिरकार धान खरीदी केन्द्रों को राहत मिली है। हालांकि अभी भी मार्कफेड के संग्रहण केन्द्रो में धान का परिवहन शुरू नहीं हो पाया है। मिलर्स की ओर से अब तक 29 हजार 970 क्विंटल धान का परिवहन किया गया है, लेकिन धान का उठाव नहीं होने के चलते धान जाम होने के कारण कई केन्द्रों में खरीदी बंद करने की स्थिति बन गई थी। जिला सहकारी बैंक की ओर से लगातार इसके लिए पत्र व्यवहार करने के बाद शनिवार से मिलर्स ने उठाव शुरू कर दिया जिसके बाद बड़े खरीदी केन्द्रों को राहत मिली है।
खैरागढ़ बैंक के तहत आने वाले सात समितियों में से अमलीपारा और सलोनी समिति में क्षमता से अधिक धान जाम होने के कारण इस सप्ताह खरीदी बंद करने की स्थिति बन गई थी। अधिकारियों के लगातार दबाव के बाद शनिवार से परिवहन शुरू हो पाया जिसके कारण अमलीपारा और सलोनी केन्द्र के साथ-साथ मडौदा मे भी धान का उठाव जारी है। अमलीपारा समिति से मिलर्स की ओर से अब 15270 क्विंटल धान का उठाव किया गया है जबकि यहां 40 हजार 470 म्ंिटल से अधिक धान की खरीदी की जा चुकी है। सलोनी समिति से भी दस हजार म्ंिटल धान का उठाव हो चुका है। मडौदा समिति से 28 सौ क्विंटल और जालबांधा समिति से 15 सौ म्ंिटल धान का उठाव मिलर्स कर चुके हैं। बढईटोला समिति से भी उठाव शुरू हो पाया है, लेकिन इसकी रफ्तार धीमी है, यहां से केवल 820 क्विंटल धान का उठाव ही हो पाया है। आमदनी और डोकराभाठा समिति मे उठाव शुरू नहीं हो पाया है। आमदनी मे 41 सौ क्विंटल और डोकराभाठा मे 18 हजार क्विंटल से अधिक धान खरीदा जा चुका है।
00 मिलर्स की ओर से परिवहन शुरू किए जाने से राहत मिली है। समितियों में धान रखने की जगह नहीं होने के कारण खरीदी बंद करने की स्थिति आ गई थी। अधिकारियों ने समय पर परिवहन शुरू कराया जिसके कारण उठाव शुरू हो गया है, खरीदी बंद करने वाली फिलहाल स्थिति नहीं है।
- राजेन्द्र सिंह शाखा प्रबंधक, जिला सहकारी बैंक खैरागढ़

Source: 
visionnewsservice.in

Related News