मुख्यमंत्री से बालोद जिले की महिला कमांडो ने की मुलाकात

2127-cc.jpg

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बालोद जिले में शराब, जुएं और सट्टे जैसी सामाजिक बुराईयों पर रोक लगाने के लिए चलाए जा रहे अभियान की तारीफ की है। बालोद जिले के गांवों में महिलाएं रात में गश्त करती हैं। जिला पुलिस ने सामुदायिक पुलिसिंग में सहयोग प्रदान करने वाली इन महिलाओं को महिला कमांडो का नाम दिया है। मुख्यमंत्री से आज सवेरे यहां उनके निवास पर जनदर्शन में बालोद जिले के ग्राम कुदारी की निवासी एक महिला कमांडो श्रीमती राधिका बाई देशमुख ने मुलाकात की। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि वे गांव की महिलाओं के साथ रात में सामाजिक बुराईयों को रोकने के लिए गश्त करती हैं। श्रीमती देशमुख ने मुख्यमंत्री को यह भी बताया कि गांव की महिलाओं के साथ वे गांव की गलियों, तालाब के किनारे, हैण्डपंप के आस-पास साफ-सफाई भी करती हैं। मुख्यमंत्री ने श्रीमती देखमुख से कहा कि उनकी उम्र भले ही सत्तर वर्ष है, लेकिन उनका जज्बा किसी युवा से कम नहीं है। मुख्यमंत्री ने श्रीमती राधिका देशमुख द्वारा महिलाओं के साथ रचनात्मक कार्यों में दिए जा रहे योगदान की सराहना की। मुख्यमंत्री को श्रीमती राधिका देशमुख ने यह भी बताया कि गांव की महिलाओं ने मानस मंडली भी बनायी, जिसके लिए कुछ सामग्री खरीदना है। मुख्यमंत्री ने उनकी मानस मंडली को स्वेच्छानुदान से दस हजार रूपए स्वीकृति प्रदान की।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News