मेरे घर भी आई एक नन्हीं वीरांगना : रमन

मेरे घर भी आई एक नन्हीं वीरांगना : रमन

आज हमारी बेटियां वीरांगना के अवतार में नजर आ रही हैं। बेटियों को आगे बढऩे से कोई नहीं रोक सकता। आज से 7 दिन पहले मेरे घर भी एक नन्हीं वीरांगना आई है। शनिवार को ये बातें प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह ने मैरीन ड्राइव पर अपने संबोधन में कही। उन्होंने आगे कहा कि आज के दिन देश और दुनिया में झांसी की महारानी लक्ष्मीबाई को याद किया जाता है। राजधानी की सड़कों पर एक हजार से ज्यादा महारानी लक्ष्मीबाई बनी बालिकाओं को देखकर हर कोई चकित रह गया।
00 सीएम ने दिखाई वीरांगना मार्च को हरी झंडी:
मैरीन ड्राइव से मुख्यमंत्री ने वीरांगना मार्च को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया किया । इस मौके पर मौजूद महिला आयोग की अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने कहा कि इनमें स्कूल, कालेज, एनसीसी, स्काउट गाइड, खेल संघ के सहयोग से 1 हजार से ज्यादा बेटियों ने महारानी लक्ष्मीबाई का रूप धारण किया। कार्यक्रम में महिला एवं विकास मंत्री रमशीला साहू भी मौके पर मौजूद रहीं।
00 गुस्से से लाल हुईं रमशीला:
कार्यक्रम में भाग लेने पहुंची महिला एवं बाल विकास मंत्री रमशीला साहू एक घंटा पहले ही पहुंच गई थीं। वहां उनको काफी अव्यवस्थाएं नजर आईं। इसको लेकर वे कई बार गुस्से से लाल हुई दिखाई दीं।
00 जाम रहा पूरा बूढापारा:
धरने और प्रदर्शन के कारण शनिवार को दोपहर बूढापारा पूरा जाम रहा । लोगों को यहां से गुजरने के लिए दूसरे रास्तों का सहारा लेना पड़ा। यही नहीं बच्चों के परिजनों को भी बाहर खड़े होकर अपने -अपने बच्चों का इंतजार करना पड़ा।

Source: 
Vision News Service

Related News