मैनपाट में गजदलों के आतंक से दो गावों के कई मकान जमीदोज

amb news hathee-1.jpg

गजदलों के आतंक से मैनपाट थर्राया हुआ है। हाथियों की दहशत से दो बस्तियां खाली हो चुकी है। मैनपाट परिक्षेत्र के ग्राम कण्डराजा पटेलपारा और बैगापारा में बुधवार-गुरूवार की दरम्यानी रात गजदल ने पुन: जमकर उत्पात मचाया। शुक्रवार को ये जानकारी सरगुजा के सीएफ व डीएफ ओ प्रियंका पांडेय ने दी उन्होंने बताया कि गजदलों ने पटेलपारा व बैगापारा की पूरी बस्ती को ही उजाड़ डाला। दोनों बस्ती में 25 मकानों को धराशाई कर दिया है। अब पटेलपारा व बैगापारा में कुछ कुछ गिने-चुने कच्चे मकान बाकी बचे हैं ।
हाथियों के आतंक के भय से वन विभाग की ओर से पटेलपारा में तो पूरे ग्रामीणों का घर ही खाली करवा दिया गया और उन्हें अन्यत्र सुरक्षित स्थान पर रखा गया है। बुधवार रात गांव में हाथी घुसते ही दहशत में ग्रामीण इधर-उधर भागने लगे व अफरातफरी का माहौल निर्मित हो गया। कंडराजा ग्राम में गजदलों ने छ: दिनों के भीतर लगभग 50 घरों को नुकसान पहुंचाया है।
कण्डराजा ग्राम में हाथियों ने इस तरह आतंक मचाया है कि, वन विभाग ग्रामीणों को सुरक्षित स्थान स्कूल भवन में रूकवाया था। गजदल बुधवार रात स्कूल भवन में भी पहुंच गये और चैनल गेट को हिलाने लगे। वन विभाग ने किसी तरह स्कूल के पास से हाथियों को खदेड़ पनाह लिये ग्रामीणों को अन्यत्र स्थान में पहुंचाया। लोगों का जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। बुधवार को वन विभाग सरगुजा के सीएफ व डीएफ ओ प्रियंका पांडेय मैनपाट हाथी प्रभावित क्षेत्र पहुंच वन विभाग के अधिकारियों को हाथी के मार्ग में खाद्य पदार्थ रखने का निर्देश दिये हैं, ताकि गजदल मकानों को नुकसान न पहुंचा सके।
प्रभावित ग्रामीणों का अब कहां गुजर-बसर होगा, इसे लेकर ग्रामीण व वन विभाग चिंतित हैं। बहरहाल वन विभाग ग्रामीणों को शासकीय भवन में पनाह दिये हुये हैं फिर भी वे सुरक्षित नहीं हैं। कुछ ग्रामीण तो अपना घर छोड़ रिश्तेदारों के यहां पनाह लिये हुये हैं। गजदलों ने पटेलपारा व बैगापारा ग्राम में बुधवार-गुरूवार की दरमियानी रात त्रिलोकी यादव, गौतम यादव, उमेश यादव, जगेश्वर, धनसाय, रामनाथ, सुधन, हिरमेत, विजय, सुखी, रामधनी, केशवर, गोविंद, देवराज, दिना, सुबराम, जगमोहन, रमेश्वर, घुरवऊ, बुद्धू,जगरदेव, नरेश व बिहानू के मकानों को क्षतिग्रस्त किया है। मैनपाट परिक्षेत्र में पिछले छ: दिनों से डेरा जमाए हुए गजदल जमकर उत्पात मचा रहे हैं।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News