मैनपाट में हाथियों का प्रकोप, पूरा गांव खाली, प्रशासनिक अमला पहुंचा प्रभावित गांव

wp-image-782326018-215x161.jpg

मैनपाट के कंडराजा गांव में हाथियों न अब तक 45 घरों को तोड़ दिया है. इसके बाद पूरा गांव खाली हो गया है. हाथियों ने आंगनबाड़ी केंद्र भी तोड़ दिया है. आज कलेक्टर किरण कौशल की अगुवाई में जिला प्रशासन पूरे अमले के साथ प्रभावित गांव पहुंचा.

कलेक्टर किरण कौशल ने कहा कि ग्रामीणों के प्राण बचाना हमारी पहली प्राथमिकता है. हाथियों ने गांव के आंगनबाड़ी केंद्र को भी तोड़ दिया है इसलिए तत्काल अस्थायी रूप से आंगनबाड़ी केंद्र भी बनवाया जा रहा है.

इस दौरान उन्होंने बैगापारा ,पटेलपारा और बरपारा के ग्रामीणों से हाथियों के आगमन के कारण होने वाली परेशानियों की जानकारी ली. उन्होंने ग्राम के सुखन पटेल, मंगल, सुखू, कार्तिक, बुद्धू मांझी, सनकुंवर, मीठी बाई एवं सुन्नी सहित अन्य ग्रामवासियों से बातचीत कर वास्तविक स्थिति का जायजा लिया. उन्होने ग्रामीणों को समझाया कि हाथियों के आगमन पर वे उनके समीप न जाएं, आक्रमक न हों तथा वन विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा बताए गए सुरक्षा उपायों को अपनाएं.

उन्होंने हाथियों के आगमन पर जलाए जाने वाले मशाल का अवलोकन किया. ग्रामीणों ने बताया कि पुराने बोरे के टूकड़ों में लाल मिर्ची को लपेटकर मशाल बनाया जा रहा है. जिससे निकलने वाले धुएं के कारण हाथी निकट नहीं आते हैं. कलेक्टर ने प्राथमिक शाला कण्डराजा के विद्यालय भवन में ग्रामीणों के भोजन, आवास एवं स्वास्थ्य संबंधी सुविधाओं का निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवष्यक निर्देष दिए.

Source: 
lalluram.com

Related News