यूनियन का सदस्य बनने कर्मियों का किया जा रहा है ब्रेनवॉश

प्रदेश में सियासी घमासान मचा हुआ है, कुछ ऐसा ही माहौल भिलाई स्टील प्लांट में भी बन चुका है। दूसरे संगठनों में नाराज और उपेक्षित कर्मचारी नेताओं को फ्रंटलाइन में लाने के लिए बिसात बिछाई जा रही है। सुबह से शाम तक प्लांट से बाजार तक एक-एक कर्मचारी नेताओं का ब्रेनवॉश किया जा रहा है, ताकि जीरो से कॅरियर शुरू करने वाली यूनियन छत्तीसगढ़ मजदूर संघ खुद को मजबूत कर सके।
00 क्या है इनके काम का तरीका :
प्रथम पाली से कर्मचारी नेताओं के खाली होने का इंतजार होता है। इसके बाद जिस शॉप और कैंटीन में वे बैठते हैं, वहीं उन्हें पकड़ा जा रहा है। बकायदा छत्तीसगढ़ मजदूर संघ के पदाधिकारियों ने अपने-अपने दोस्तों पर सबसे पहले फोकस किया है। सीटू, इंटक के अलावा अन्य वो संगठन, जहां करीबी कर्मचारी नेता उपेक्षित हैं, उनका ब्रेन वॉश करने का दांव गोपनीय तरीके से खेला जा रहा है। किसी एक यूनियन पर टार्गेट के बजाय छोटी-छोटी यूनियन में भी तोडफ़ोड़ का तरीका अपनाया गया है। छत्तीसगढ़ मजदूर संघ का कहना है कि, आने वाले कुछ ही दिनों में बड़ा बदलाव देखने को मिलेगा। ऐसे कर्मचारी और पदाधिकारी जो मुख्यधारा में नहीं जुड़ सके, उनकों सम्मानजनक स्थान दिया जाएगा। कर्मचारियों का एक बड़ा वर्ग यूनियन में गुटबाजी से सक्रिय नहीं हो पाता। ऐसे ही लोगों को सही मौका दिया जा रहा है। लिस्ट तैयार की जा रही है। प्लांट के अलावा चाइना मार्केट भी गोटी बैठाने का अड्डा बना हुआ है। यहां किसी वक्त भी दो-चार कर्मचारियों के साथ गोपनीय मीटिंग करने वाले नजर आ जाते हैं। प्लांट में सबके सामने खुलकर बातें नहीं हो सकती, इसलिए प्लांट के बाहर चाइना मार्केट में चाय की चुस्की पर बड़े फैसले लिए जा रहे। कहा जा रहा है कि, नए संगठन में राजनीतिक पार्टियों में काम करने का अनुभव रखने वाले सक्रिय हैं। इसलिए चुनावी दांव खेलने में वे माहिर हैं।

Source: 
Vision News Service

Related News