रतनजोत के बीज खाने से 16 स्कूली बच्चों की हालत गंभीर, जिला अस्पताल में चल रहा इलाज

रतनजोत के बीज खाने से 16 स्कूली बच्चों की हालत गंभीर, जिला अस्पताल में चल रहा इलाज

जिला मुख्यालय से 12 किलो मीटर की दूरी पर स्थित ग्राम सन कपाट के प्राथमिक शाला के 16 विद्यार्थी गंभीर रुप से बीमार हो गए. मिली जानकारी के मुताबिक स्कूल में पढ़ाई करने आए बच्चे मध्यान भोजन करने के बाद स्कूल से घूमने निकल गए. जहां पास में ही रजनजोत पौधे के बीज खान से हालत बिगड़ गई. गंभीर रुप से बीमार बच्चों को आनन-फानन में उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा गया. जहां भर्ती कर उपचार किया जा रहा है. मामले को गंभीरता से लेते हुए स्थानीय प्रशासन के द्वारा स्कूल समय पर घूम रहे बच्चों के बारे में पूछताछ की जा रही है.

गौरतलब है कि स्कूली के समय में बच्चे स्कूल परिसर के बाहर कैसे पहुंचे. इसको लेकर बच्चों के परिजनों में आक्रोश है. परिजनों का आरोप है कि लापरवाह स्कूल प्रबंधन के द्वारा स्कूली समय पर बच्चों को बाहर क्यों जाने दिया गया. हलांकि स्कूल प्रबंधन की इस लापरवाही के कारण 16 बच्चों को जान मुश्किल में आ गई है. वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि प्राथमिक शाला में पढ़ाई नहीं होने के कारण बच्चें मध्यान भोजन कर स्कूल से निकल जाते है.

स्थानीय लोगों ने बताया कि रतनजोत का बीज जगहरीला होता है. इसके बीज को पशू-पक्षी तक नहीं खाते है. स्कूल से निकले अबोध बालकों को इस जहरीले बीज के बारे में जानकारी नहीं होने से खाने वाली चीज समझ कर निगल गए. जिसके कारण उल्टी, दस्त की शिकायत होने लगी. बता दें कि रतनजोत के जहरीले बीज के शरीर के अंदर घुलने से जहर समान करता है. जिसके कारण हालत गंभीर होने लगती है.

Source: 
lalluram.com

Related News