रायपुर में रेलवे कर्मचारियों को प्रशिक्षित करने हुआ सेमीनार

मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय रायपुर में 7वें वेतन आयोग की ओर से किए गए अनुशंसा निर्देशों के संबंध में 11 सितंबर को रेल कर्मचारियों को प्रशिक्षित और अपग्रेड करने के उद्देश्य से सेमिनार कार्यक्रम किया गया। इस सेमिनार के मुख्य वक्ता बालचंद अय्यर कार्यकारी निर्देशक, वेतन आयोग, रेलवे बोर्ड थे। सेमिनार मंडल रेल प्रबंधक कौशल किशोर की उपस्थिति में हुआ।
मंडल रेल प्रबंधक कौशल किशोर ने कहा कि रेलवे अपने कर्मचारियों को सही वेतन भत्ते देने के लिए प्रतिबद्व है । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के सभी मंडलों कारखानों के प्रतिभागियों को बोर्ड के इस पहल का लाभ लेते हुए अपने नियम संबंधित जानकारी अपडेट और स्पष्टीकरण करने का अनुरोध किया इससे हमारे रेलकर्मियों को सही लाभ हम दे पाएंगे।
प्रत्येक रेल कर्मचारियों को उनके सही वेतन भत्ते देने का वैधानिक दायित्व रेल प्रशासन का है। 7वें वेतन आयोग की ओर से किए गए अनुशंसा पर भारत सरकार की ओर से समय-समय पर अनेक निर्देश रेलवे बोर्ड रेलवे मंत्रालय से जारी होते हैं । अब तक लगभग 114 निर्देश संबंधी पत्र रेल मंत्रालय भारत सरकार से जारी हुए हैं। रेल मंत्रालय के इन निर्देशों का अनुपालन करने की जिम्मेदारी रेल मंडलों और कारखानों की है। मंडल अपने कर्मचारियों के वेतन भत्ते देने का कार्य करता है। इन्हें सही तरीके से यह भत्ते मिले इसी क्रम में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के सभी वेतन भत्ते बिल लेखा विभाग के कर्मचारियों को प्रशिक्षित और अपग्रेड करने के उद्देश्य से सेमिनार किया गया। जयकुमार उपनिदेशक, वेतन आयोग, रेलवे बोर्ड की ओर से कार्य के दौरान आने वाली सभी शंकाओं पर स्पष्टीकरण किया गया।
सेमिनार पीसी नायक, मुख्य कार्मिक अधिकारी, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के निर्देशन में हुआ । जिसमें मुख्यालय से डीके गुप्ता, मुख्य कार्मिक अधिकारी (औद्योगिक संबंध) ने भाग लिया। रायपुर मंडल सेे शिवशंकर लाकड़ा, अपर मंडल रेल प्रबंधक , मेेघा अग्रवाल, वरिष्ठ मंडल वित्त प्रबंधक ने सक्रिय योगदान दिया। कार्यक्रम सफलता के लिए प्रदीप मिश्रा मंडल कार्मिक अधिकारी (समन्वय ) की सराहना की गई । उक्त सम्मेलन में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के तीनो मंडलों रायपुर ,बिलासपुर और नागपुर मंडल और नागपुर वर्कशॉप, डब्लूआरएस वर्कशॉप के कार्मिक, लेखा, निर्माण विभाग के लगभग 14 अधिकारियों और 60 कर्मचारियों ने भाग लिया और नियम संबंधी स्पष्टीकरण प्राप्त किया।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News