राशन दुकान से दो माह का चावल नहीं मिला

राशन दुकान से दो माह का चावल नहीं मिला

खैरा जयरामनगर के शासकीय उचित मूल्य की दुकान पर ग्रामीणों ने दो माह से चावल आबंटन को बंद करने का आरोप लगाया। इसके साथ ही विक्रेता के खिलाफ सख्त कार्रवाई मांग की। ग्रामीणों ने इस मामले को लेकर कलेक्ट्रेट में ज्ञापन भी सौंपा।
गौरतलब हो कि मस्तूरी विकासखंड के खैरा जयरामनगर में उचित मूल्य की दुकान से व्यवस्थित चावल आबंटन नहीं करने से ग्रामीणों के बीच काफी रोष है। इस संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि अक्टूबर और नवंबर माह का चावल, शक्कर और नमक नहीं मिला है जिसके चलते परेशानी उठानी पड़ रही है। इन सबके पीछे जयरामनगर के शासकीय उचित मूल्य की दुकान के विके्रता जगदीश सोनी मुख्य कारण है। ग्रामीणों ने सीधे तौर पर उक्त विक्रेता पर खाद्यान्न जान बूझकर नहीं बांटने का आरोप लगाया है।
इस संबंध में शिकायत भी पूर्व में दर्ज कराई गई थी। जिसमें उक्त विक्रेता दोषी पाया गया। इसके बावजूद आज तक विक्रेता पर उच्च अधिकारियों की ओर से किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई। इसे लेकर आज कलेक्ट्रेट में बड़ी संख्या में महिला एवं पुरुष ग्रामीण ज्ञापन के साथ पहुंचे। इस दौरान अधिकारी को अपनी समस्या के संबंध में बताया जिस पर अधिकारी ने मामले को गंभीरता से लेते हुये जिन हितग्राहियों को चावल का आबंटन नहीं हुआ है उनकी सूची मांगी गई। जिसका सचिव के सूची से मिलान करने पर सारी स्थिति स्पष्ट कर देने का भरोसा दिलाया। आज ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से जनता कांग्रेस के बृजेश साहू, अंजू, अमृता मरावी, शांति बाई, यशोदा, बृहस्पति बाई साहू, पुराइन बाई साहू, पांचो बाई निर्मलकर, अजय लक्ष्मी, बुधवारा, जानकी, संतोषी, रामबाई समेत ग्रामीण मौजूद रहे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News