रिहायशी कॉलोनियों में लगातार चोरी की घटना से लोगों में दहशत

नगर की मुख्य कॉलोनियों में सुरक्षा को लेकर कई सवाल उठने लगे हैं। लगातार बढ़ रही चोरी की घटनाओं ने रहवासियों के दिलों में असुरक्षा का भाव पैदा कर दिया है। रात्रिकालीन पुलिस गश्त में कमी होने के कारण उठाईगिरी और चोरों के हौसले बुलंद हो रहे हैं। नगर की बैदनाथ कॉलोनी (बसंतपुर) से लेकर कंचनबाग और न्यू खंडेलवाल कॉलोनी में पिछले दिनों हुई चोरियों ने पुलिस की रात्रि गश्त पर बड़ा सवाल खड़ा किया है। पेट्रोल चोरी करने वालों का गैंग भी पिछले कुछ माह से सक्रिय हो गया है।
न्यू खंडेलवाल कॉलोनी ममता नगर से लेकर कंचनबाग और बर्फानी धाम आश्रम के समीप निवासरत लोगों ने चोरियों की रिपोर्ट भी कोतवाली थाने में दर्ज कराई है। इसके बावजूद किसी प्रकार की गिरफ्तारी या बड़ी कार्रवाई नहीं होने से चोरों के हौसले बुलंद हुए हैं। कॉलोनियों में पुलिस जवानों की ड्यूटी रात 11 से सुबह 5 बजे तक बराबर लगाई जा रही है लेकिन ड्यूटी में जवानों की मौजूदगी को देखने पुलिस अधिकारी सतर्क नहीं है। सुरक्षा व्यवस्था में ढिलाई देख आरोपियों ने अपनी सक्रियता बढ़ा दी है। 31 मई की रात कोतवाली थाना क्षेत्र की न्यू खंडेलवाल कॉलोनी में चोरी की घटना का पता चला। रिपोर्ट के बाद बकायदा कोतवाली थाना प्रभारी याकूब मेमन ने जवानों को भेजकर फुटेज भी प्राप्त किए, लेकिन आरोपी अभी तक गिरफ्त से बाहर है। 16 जून को कंचनबाग स्थित शर्मा परिवार में डेढ़ से दो लाख रुपए के जेवरातों की चोरी हुई थी। बर्फानी धाम कालोनी में भी 19 जून की रात चोरी की घटना हो गई।
लोगों ने कॉलोनियों में सीसीटीवी कैमरों की व्यवस्था कर रखी है लेकिन फुटेज मिलने के बाद भी यदि पुलिस आरोपियों को गिरफ्तार नहीं कर पाए तब अलग-अलग चर्चाओं को बल मिलता है। कॉलोनी में निवासरत लोगों का कहना है कि देर शाम के बाद कालोनियों के विभिन्न हिस्सों में आवारा लोगों का बैठना इस बात का पक्का प्रमाण माना जा सकता है कि वे किसी ने किसी तरह रेकी करने में लगे हुए हैं। मौका पाते ही आरोपी अपना काम कर निकल जाते हैं। जिला मुख्यालय में कॉलोनियों से लेकर पुराने शहर में रहवासियों की संख्या में लगातार वृद्धि हुई है। सिर्फ 3 पेट्रोलिंग गाड़ियां रात में गश्त कर रही है। एक वाहन में कम से कम 3 जवानों की तैनाती के विषय में भी जानकारी मिली है।
00 रात्रि गश्त में कमी नहीं : एएसपी
अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश अग्रवाल का कहना है कि रात्रिकालीन गश्त में किसी प्रकार की कमी या ढिलाई नहीं की जा रही है। पुलिस का यह प्रयास रहता है कि नगर सहित आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी नागरिकों को पूर्ण सुरक्षा दी जा सके। अग्रवाल ने यह भी कहा कि पिछले दिनों दो-तीन चोरियों का पता चला है। पुलिस ने फुटेज के आधार पर अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है। उन्होंने आश्वस्त किया कि जिस तरह पुलिस के जवान पतासाजी में लगे है, ऐसे में बड़ी सफलता जल्द ही मिल सकेगी।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News