वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का कलेक्टर ने लिया जायजा

Vns News

बुधवार को जिला मुख्यालय में बालोद आवर्धन जल प्रदाय योजना के अंतर्गत दो करोड़ 35 लाख रुपए की लागत से बन रहे वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का कलेक्टर ने निरीक्षण कर जायजा लिया। उन्होंने निर्माण कार्य पूर्ण गुणवत्ता के साथ छह माह के भीतर पूरा कराने के निर्देश लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को दिए।
कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने कहा कि, वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य पूर्ण होने से नागरिकों को शुद्ध पेयजल मिलेगा। तांदुला नहर के किनारे सम्पवेल का निर्माण भी शीघ्र पूरा कराने के निर्देश्श दिए। विभागीय अधिकारियों ने कलेक्टर को बताया कि, नगर में पाइप लाइन बिछाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। पांच टंकियों के माध्यम से नगर की आबादी को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। अधिकारियों ने कलेक्टर को आश्वस्त किया कि, वे समयावधि में वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य पूरा करा लेंगे। उन्होंने दल्लीराजहरा के वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कार्य भी शीघ्र शुरू कराने के निर्देश दिए। विभागीय अधिकारियों ने कलेक्टर को बताया कि, दल्लीराजहरा में तीन करोड़ 49 लाख रुपए लागत से वाटर ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण कराया जाएगा, जिसकी क्षमता आठ मिलियन लीटर प्रतिदिन है। निर्माण कार्य के लिए शासन स्तर से निविदा स्वीकृत हो चुकी है। इस अवसर पर लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यपालन अभियंता आर.के. शुक्ला सहित विभाग के अन्य अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News