शराबबंदी पर सरकार के रवैये की कांग्रेस ने की आलोचना, कहा – शराबबंदी को जनहित का विषय नहीं मानती सरकार

शराबबंदी पर सरकार के रवैये की कांग्रेस ने की आलोचना, कहा – शराबबंदी को जनहित का विषय नहीं मानती सरकार

शराबबंदी के मामले पर आज एक बार फिर कांग्रेस ने सरकार को आडे हाथों लिया है. कांग्रेस प्रवक्ता शैलेष पांडेय ने कहा कि मंत्री अमर अग्रवाल से विधानसभा मे आज भूपेश बघेल जी के द्वारा प्रश्न पूछा गया कि सरकार ने पूर्ण शराब बन्दी का वादा किया था उसका क्या हुआ.खबर के अनुसार मंत्री अमर ने जवाब दिया कि शराबबन्दी परीक्षण का विषय है और रिपोर्ट आयेेेगी,तब इस बारे मे सरकार विचार करेगी.यानि अमर अग्रवाल जी ये नहीं कहे कि शराबबन्दी जनहित का विषय है.

शैलेष पांडेय ने कहा कि शराबबंदी का झूठा वादा प्रदेश की जनता से करने वाले मन्त्री और इनकी सरकार समिति की रिपोर्ट का सहारा लेकर प्रदेश मे शराब का धन्धा करने मे लगी है और मुनाफा कमा रही है.उन्होने कहा कि सरकार शराब को चुनाव मे हथियार बनाने की जुगाड मे है. जनता के हितो का ध्यान इस सरकार के जेहन में नही है.सरकार जनता से वादा करके धोखा कर रही है और न जाने कितने लोगो की जान जायेगी.

शैलेष ने कहा कि शराब के कारण रोज रोज लोग मौत के मुंह में समां रहे हैं. हत्या और दूसरे अपराध की मुख्य वजह शराब है, लेकिन मंत्री जी को यह सब नहीं दिख रही है और विधानसभा मे उनका ये जवाब दर्शाता है कि उनको शराब की बिक्री से कितना लगाव है और वे उसके लिये बिल्कुल भी पहल नही कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि कांग्रेस लगातार भूपेश बघेल जी के नेतृत्व मे हर मोर्चे पर जनहित में शराबबन्दी के लिये सरकार को पूरे प्रदेश मे घेर रही है और शराबबन्दी के लिये और जनता की भलाई के लिये संघर्षरत है.

Source: 
lalluram.com

Related News