शिक्षाकर्मियों के आगे झुका प्रशासन, मान ली मांग

शिक्षाकर्मियों के आगे झुका प्रशासन, मान ली मांग

अपनी मांगों को लेकर सोमवार से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर गए शिक्षाकर्मियों के आगे आखिरकार प्रशासन ने घुटने टेक दिया है. कलेक्टर ने शिक्षाकर्मियों को धरना स्थल पर हड़ताल करने की अनुमति दे दी है. दरअसल पहले शिक्षाकर्मियों को बूढ़ा तालाब स्थित धरना स्थल पर प्रशासन ने हड़ताल करने की अनुमति नहीं दी थी.

उन्हें ईदगाह मैदान में हड़ताल करने कहा गया था लेकिन शिक्षाकर्मियों ने ईदगाह मैदान जाने से इंकार कर दिया और सुबह से ही बड़ी संख्या में सब धरना स्थल पर ही एकत्रित हो गए थे. जिसके बाद आखिरकार प्रशासन शिक्षाकर्मियों की इस मांग के आगे झुकते हुए उन्हें दो दिन धरना स्थल पर ही धरना-प्रदर्शन और हड़ताल करने की अनुमति दे दी.

आपको बता दें कि आज से शिक्षाकर्मी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. शासन स्तर पर हुई बातचीत असफल होने के बाद उन्होंने यह फैसला लिया है.

गौरतलब है कि प्रदेश में 1 लाख 80 हजार से ज्यादा शिक्षाकर्मी हैं जो शिक्षा विभाग में संविलियन से लेकर लेकर क्रमोन्नति, पदोन्नति सहित 9 सूत्रीय मांगों को लेकर लंबे समय से धरना प्रदर्शन करते आ रहे हैं उनकी यह मांग वर्षों से लंबित है. जिसे लेकर वे समय-समय पर धरना-प्रदर्शन करते रहे हैं. इसके पहले 2012 में भी शिक्षाकर्मियों ने राज्य में बड़ा आंदोलन किया था. जिसमें प्रदेश भर के शासकीय स्कूलों में ताला लग गया था.

Source: 
Lalluram News

Related News