शिक्षाकर्मी 17 को घेरेंगे विधानसभा

शिक्षाकर्मी संघर्ष समिति के संचालक हरीश सिन्हा ने बताया कि सरकार की वादाखिलाफी एवं भेदभाव के कारण शिक्षाकर्मियों में भारी आक्रोश है। जिसके चलते 1 नवम्बर को राज्यउत्सव का बहिष्कार कर पूरे प्रदेश के शिक्षाकर्मियों ने राजधानी रायपुर में महारैली निकालकर शासन को ज्ञापन सौंपा, जिसके परिणाम स्वरूप सभी संघ प्रमुखों के साथ सचिव स्तरीय वार्ता हुई। परंतु हमेशा की तरह वार्ता में केवल खोखला आश्वासन मिला।
वित्तीय मामलों में निर्णय लेने में अक्षमता दर्शाई गयी, जिससे शिक्षाकर्मियों में सरकार के खिलाफ आक्रोश है, जिसके चलते 8 नवम्बर को मंत्री, सांसद एवं विधायकों को ज्ञापन सौंपकर मांगों के संबंध में समर्थन प्राप्त करेंगे। 15 नवम्बर को चारों ब्लाकों में धरना प्रर्दश एवं 17 नवम्बर को विधानसभा का घेराव किया जाएगा। तत्संबंध में व्यापक रणनीति बनाने सभी संघों के पदाधिकारियों के आवश्यक बैठक 7 नवम्बर को 4 बजे कर्मचारी भवन धमतरी में रखी गयी है। बैठक में उपस्थिति की अपील श्रीमती ममता खालसा, अमित महोबे, श्रीमती रंजना साहू, लाल बहादुर साहू, दिनेश पांडे, राजेश यादव, प्रदीप सिन्हा, पवन परिहा, केएल साहू, जितेन्द्र सार्वा, आलोक मत्स्यपाल, शेषनारायण गजेन्द्र, मनोज साहू, कपिल देशलहरे, श्रीमती आशा खाकरे, जेपी, वरूण साहू, रमेश देवांगन, विनीत मिश्रा आदि ने की है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News