सरकार ने कुपोषण दूर करने की दिशा में किया ऐतिहासिक कार्य:अभिषेक

छत्तीसगढ़ सरकार ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से कुपोषण दूर करने और सामाजिक बदलाव का बड़ा कार्य किया है ।यह बात सांसद अभिषेक सिंह ने मुंबई वर्कशॉप में कही। आईआईटी मुंबई में सपोर्ट टू इम्प्रूविंग न्यूट्रीशन लेवल इन छत्तीसगढ़ के विषय पर आयोजित वर्कशॉप को सम्बोधिन कर रहे थे । इसमें आईआईटी मुंबई के निदेशक, आइडिया सीएसआर प्रमुख, प्राध्यापकों और आईआईटी मुंबई के छात्रों के अलावा भी तमाम लोग मौजूद थे ।
00 पीडियस के चावल के बारे में भी बताया :
संसद अभिषेक ने छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से संचालित सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत नि:शुल्क नमक वितरण, एक रुपए प्रति किलो में चावल वितरण के ऐतिहासिक निर्णय से हुए बदलावों का जिक्र कर रहे थे। सिंह ने कहा कि इससे राज्य में कुपोषण दूर करने में मदद मिली है, गरीब परिवारों की भोजन की मूलभूत आवश्यकता पूरी हुई और उन्हें विकास के समुचित अवसर मिले हैं। उन्होंने बच्चों, गर्भवती महिलाओं और किशोर बालिकाओं के पोषण स्तर एवं स्वास्थ्य में सुधार के लिए संचालित इस पहल से जुड़ी जानकारी दी। सांसद अभिषेक ने कहा कि किस प्रकार छत्तीसगढ़ सरकार समाज के अंतिम छोर पर खड़े व्यक्ति का ध्यान रख रही है।
सिंह ने आईआईटी मुंबई की बैम्बू वर्कशॉप और पॉटरी वर्कशॉप का भी भ्रमण किया, जिसमें वे ग्रामीणों के कौशल विकास के लिए आयोजित इन वर्कशॉप में बांस से बनी स्किल किट और पॉटरी वर्कशॉप में मिट्टी से बने सुंदर बर्तनों और कलाकृतियों से काफी प्रभावित हुए।उन्होंने कहा कि सुंदर बर्तनों और कलाकृतियों ने मुझे अपने प्रदेश की कला और कुम्हारों की याद दिलाई । आईआईटी मुंबई में आयोजित कार्यशाला में सिंह के साथ जिला पंचायत राजनांदगांव के सीईओ चंदन कुमार, जिले के मुख्य चिकित्सा और स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी, महिला बाल विकास के जिला कार्यक्रम अधिकारी राजकुमार खाती और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कार्यक्रम मैनेजर मनीष मेजरवार भी उपस्थित थे।

Source: 
Vision News Service

Related News