सरकार बनने के बाद भी एकमत नहीं हुई कांग्रेस : डॉ. रमन

छत्तीसगढ़ में विवादों से घिरे आईपीएस तात्कालीन बस्तर आईजी को भाजपा सरकार ने अपने शासन काल में विवादों के बाद हटाया था। उसके बाद कांग्रेस की सरकार बनते ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस अधिकारियों के भरोसे सरकार नहीं चलाएगी, को पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आड़े हाथ लिया है। डॉ. सिंह ने कहा कि सरकार बनने के बाद भी कांग्रेस एकमत नहीं हो पाई है। इसका साक्षात उदाहरण मुख्यमंत्री के बयान और गृहमंत्री के काम में दिखाई पड़ता है।
एक ओर मुख्यमंत्री अफसरों के भरेसे सरकार नहीं चलाने की बात कहते हैं तो दूसरी ओर उनके ही गृहमंत्री इन सब बातों से अनभिज्ञ होकर अफसरों की पदस्थापना करते हैं।
उन्होंने कहा कि ये अद्भूत सरकार है, अभी विधानसभा का दूसरा दिन है, ये सरकार का जो टीम वर्क होता है, कैसे दो दिन में ही बिखरकर सामने आ रहा है, गृहमंत्री को ये ही नहीं मालूम, कि किस प्रकार एक अधिकारी की नियुक्ति होती है। जिस अधिकारी के बारे में मुख्यमंत्री ने ना जाने क्या-क्या बातें कही थी, क्या-क्या कमेंट उनके उपर किए थे, आज यू टर्न अपनी उन्ही बातों से ले रहे हैं। सभी मुद्दों में किस प्रकार ये पलटकर अपनी योजना अपनी बातों को पलट रहे हैं, ये एक-एक दिन में एक-एक परत इनका उतरेगा, जैसे प्याज के छिलके उतरते हैं, आप देखिये आने वाले समय में, इनकी घोषणाओं की कैसे धज्जियां बिगड़ती है।
सवाल घोड़े और घुड़सवार का है, रमन सिंह अधिकारियों के भरोसे चलते थे, अधिकारियों से काम लेना कांग्रेस के लोगों को आता है, हम परंपरा वाले लोग है और उनका अनुभव लेना हमें आता है, हम अधिकारियों के भरोसे सरकार नहीं चलायेंगे, इस बात को रमन सिंह समझ लें, 15 साल वो चंद अधिकारियों के भरोसे सरकार चलाये, हम ऐसा नहीं करेंगे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News