सवर्ण आरक्षण मोदी और भाजपा की नई शिगूफेबाजी : कांग्रेस

कांग्रेस ने केंद्र की मोदी सरकार की ओर से सवर्णो को 10 फीसदी आरक्षण के निर्णय को मोदी और भाजपा की नई शिगूफेबाजी बताया है। प्रदेश कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि अनुसूचित जाति जनजाति और अन्य पिछड़े वर्गों के आरक्षण को प्रभावित किये बिना गरीबों के लिए दिए जाने वाले आरक्षण और किसी भी तरह के लाभ का कांग्रेस समर्थन करती है, लेकिन इस निर्णय को लिए जाने का समय और तरीका बताता है कि नीयत में खोट है।
भारतीय जनता पार्टी की नीयत गरीब सवर्णो को आरक्षण देने की नही सिर्फ चुनावी फायदा उठाने की है। लोकसभा चुनावों को देखते हुए मोदी केबिनेट ने यह पैंतरा चला है। सभी जानते हैं लोकसभा चुनावों के लिए मात्र तीन महीने ही बचे है इस अवधि में यह निर्णय कार्यरूप में परिणित नही हो पायेगा। मोदी सरकार की नीयत में खोट नही होता तो इस आरक्षण का निर्णय मोदी सरकार अपने कार्यकाल के अंतिम समय में नही लाती, पहले ही निर्णय ले लेती। पांच राज्यों के चुनावों में हुई बुरी तरह से पराजय के बाद मोदी और भाजपा अपनी गिर चुकी साख को बचाने नई जुगत में लगे है।
देश की जनता भाजपा और मोदी के जुमलेबाजी वाले चरित्र को भली भांति पहचान चुकी है। लोगों ने भाजपा के हर एक के खाते में पन्द्रह लाख रुपये आने वाले वायदे, हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने के वायदे, काला धन लाने के वायदे, राम मंदिर के वायदे के हस्र को देख चुकी है। देश की जनता अब मोदी और भाजपा के भुलावे में नही आने वाली। भाजपा कितने भी चुनावी पैतरेबाजी कर ले 2019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा का पतन सुनिश्चित है।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News