सालिड लिक्वड रिसोर्स मैनेजमेंट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर शहर में

   सालिड लिक्वड रिसोर्स मैनेजमेंट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर शहर में

सालिड लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेंट, इंडियन ग्रीन इंस्टीट्यूट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर और कंसलटेंट तीन दिनों तक राजनांदगांव में रहेंगे। इस दौरान वे शहर के सालिड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के कार्य के लिए अपने सुझाव देंगे।
सालिड लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेंट, इंडियन ग्रीन इंस्टीट्यूट के प्रोजेक्ट डायरेक्टर और कंसलटेंट सी. श्रीनिवासन तीन दिन तक शहर में रहेंगे। इन तीन दिनों में वे शहर में सालिड लिक्विड रिसोर्स मैनेजमेंट के कार्य को और बेहतर बनाने के संबंध में अपने सुझाव देंगे। एसएलआरएम सेंटर के संचालन के संबंध में तकनीकी मार्गदर्शन भी प्रदान करेंगे। गौरतलब है कि श्री श्रीनिवासन ने वेल्लोर और कोयंबटूर जैसे शहरों में सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के लिए काफी कार्य किया है और इस क्षेत्र में उनका वेल्लोर मॉडल विख्यात है। श्री श्रीनिवासन का मानना है कि कचरे का सही तरह से संवर्धन करें तो इससे काफी लाभ उठाया जा सकता है। डोर टू डोर कलेक्शन करने वाली स्वसहायता समूहों के लिए इससे बेहतर आय के अवसर पैदा होते हैं। इस संबंध में नगर निगम के कमिश्नर अश्विनी देवांगन ने कहा कि देश भर में स्वच्छता संबंधी सर्वेक्षण होने वाला है। इस सर्वेक्षण में राजनांदगांव की छवि स्वच्छ, सुंदर शहर के रूप में उभरे। इसके लिए निगम प्रशासन और नागरिक जुटे हुए हैं। बुधवार और शुक्रवार को एक-एक वार्ड में स्वच्छता का कार्य जनभागीदारी के साथ संपन्न किया जा रहा है। डोर टू डोर कैंपेन के लिए स्वसहायता समूह बहुत अच्छा काम कर रही है। कलेक्टर भीम सिंह के निर्देश पर तकनीकी रूप से दक्ष करने का कार्य भी किया जा रहा है। श्रीनिवासन की उपस्थिति में इनकी तकनीकी समझ बढ़ेगी। साथ ही कार्यकर्ता अपनी व्यावहारिक दिक्कतों को भी उनके समक्ष रख सकेंगे। इन तीन दिनों के भ्रमण में श्रीनिवास विभिन्न नागरिक समूहों से भी मिलेंगे और उन्हें सालिड लिक्विड वेस्ट मैनेजमेंट के संबंध में जागरूक करेंगे। श्रीनिवासन शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में भी स्वच्छता और सालिड वेस्ट मैनेजमेंट के संबंध में अपने सुझाव प्रदान करेंगे।

Source: 
Vision News Service

Related News