सूखा राहत सर्वे के अनुसार मिलेगा मुआवजा : बंजारे

किसान अपनी उपज सोसायटी में बेचे। सूखा राहत सर्वे हो चुका है। इसके अनुरूप किसानों को आरबीसी 6.4 के अंतर्गत मुआवजा मिल सकेगा। साथ ही फसल कटाई प्रयोगों के अनुरूप किसानों को फसल बीमा योजना का लाभ भी मिल सकेगा। यह बातें डोंगरगढ़ विधायक सरोजनी बंजारे ने बल्देवपुर में ग्रामीणों से कही।
00 जानकारों ने बताए जरूरी उपाय :
उन्होंने कहा कि, सूखे जैसी आपदा को देखते हुए स्थायी उपायों की ओर बढ़े। गांव में डबरी जैसे स्ट्रक्चर का निर्माण करें। मनरेगा जैसी योजनाओं के माध्यम से न केवल आपके लिए रोजगार का रास्ता खुलता है अपितु गांवों में ठोस आधारित संरचनाओं का निर्माण होता है। डबरी जैसी संरचनाओं से भूमिजल स्तर बढ़ता है। डोंगरगढ़ विधानसभा के पहाड़ी क्षेत्रों के आसपास का अनुभव बताते हुए उन्होंने कहा कि, भूमिगत जल स्तर तेजी से गिर रहा है। अब जल संरक्षण समय की आवश्यकता है। हम एक-एक बूंद जल को सहेज कर रखें। जनसमस्या निवारण शिविरों के माध्यम से प्रशासन और आम जनता की नजदीकियां बढ़ती है। ऐसे शिविरों में सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहते हैं। कई बार कुछ ऐसे कार्य भी होते हैं जिनमें विभागीय समन्वय की जरूरत होती है। ऐसे कार्य भी शिविरों में तुरंत निपट जाते हैं। उन्होंने कहा कि शिविरों में जनप्रतिनिधि और उच्चाधिकारी मौजूद होते हैं। अपनी समस्याएं रखने का यह सबसे अच्छा फोरम होता है। अधिकाधिक संख्या में इसमें उपस्थित रहकर इसका लाभ ग्रामीणों को उठाना चाहिए।

Source: 
Vision News Service

Related News