सेवा का चुनाव नहीं होने से यूनियन नेताओं का बढ़ रहा है गुस्सा

स्टील इम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन (सेवा) की नई कार्यकारिणी गठन के लिए 30 नवंबर तक चुनाव का वादा और दावा किया गया था। न तो चुनाव की तारीख तय की गई और न ही कोई आगे की संभावना दिख रही है। इस बात को लेकर कर्मचारी यूनियन नेताओं में गुस्सा बढ़ता जा रहा है। वहीं एसोसिएशन ने यह भी बोल दिया है कि, अगर चुनाव कराया गया तो 10 से 12 लाख रुपए खर्च होंगे। ऐसे में आर्थिक भार सेवा पर थोपना मुनासिब नहीं। इसलिए बातचीत के जरिए ही बीच का रास्ता निकाला जाएगा।
23 सितंबर को सेवा की जनरल बॉडी मीटिंग हुई थी। बतौर चेयरमैन जीएम पर्सनल आरएन पंडा ने मनोनयन करने की प्रक्रिया अपनाने का प्रस्ताव लाया। इसके विरोध में इंटक, सीटू, एक्टू, बीएमएस सहित अन्य कर्मचारी यूनियन ने सेक्टर-1 नेहरू कल्चर हाउस में मीटिंग का विरोध करते हुए चुनाव की मांग की थी। इस बात पर करीब 15 मिनट तक हंगामा होता रहा। अंत में सेवा के चेयरमैन ने 30 नवंबर तक चुनाव कराने की तारीख घोषित करने की बात कही थी, लेकिन अब तक कुछ हुआ नहीं है। चुनाव कराने के लिए कोई कमेटी तक नहीं बनी। इस बाबत कोई प्रक्रिया भी नहीं अपनाई गई है। ऐसे में एक बार फिर मामला तूल पकड़ता दिख रहा है। कर्मचारी यूनियन इंटक के प्रवक्ता वंश बहादुर सिंह ने कहा कि सेवा के गाइडलाइन के मुताबिक जनरल बॉडी मीटिंग में ही नई कार्यकारिणी का गठन किया जाना है, लेकिन ऐसा नहीं किया गया।

Source: 
Vision News Service

Related News