हेराफेरी करने वाली सोसायटियों से वसूली की तैयारी

जिले के धान खरीदी केंद्रों में सूखत के नाम पर करोड़ों की हेराफेरी करने वाले सभी सोसायटियों से वसूली की तैयारी विभाग ने कर ली है। इस मामले में पांच खरीदी केन्द्रों को नोटिस देकर दो में जांच के लिए भेज दिया गया है।
सन 2013-14 में जिले के कुछ सोसायटियों में धान शार्टेज दिखाया गया था। जिसे अनियमितता मानते हुए अब रिकव्हरी की कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में पांच सोसायटियों को नोटिस थमा दिया है। इसके अलावा 25 से 30 और नोटिस जिले के सोसायटियों को भेजने की तैयारी में है। ज्ञात हो कि समितियों में किसान अपना धान बेच कर जाता है। ये धान कुछ दिनों तक समिति में ही रखा होता है। समिति से संग्रहण केंद्र भेजा जाता है। इस बीच धान के गिराने व सूखने से वजन में कमी आती है। शार्टेज के एवज में प्रबंधकों ने करोड़ों के वारे न्यारे कर दिए। उपपंजीयक गुप्ता ने बताया कि फिलहाल 5 ऐसे सोसायटियों को नोटिस भेजा जा चुका है। जिन्होंने 2013-14 में शार्टेज के खेल में सरकार को एक करोड़ से अधिक का चूना लगाया। इनमें पहले है बोडऱा जहां 19,49,436 रुपए, भोथली में 36,64,293 रुपए, गट्टासिल्ली में भी 34,48,605 रुपए, घुटकेल में 13,88,298 और बारगरी में 16,30,987 रुपए का नुकसान सरकार को हुआ है। दो खरीदी केन्द्रों में जांच टीम भेज दी गई है। सभी की रिपोर्ट आने पर सहकारी समिति के अधिनियम तहत रिकव्हरी की जाएगी। इसी तरह की कार्रवाई 25 अन्य सोसायटियों के खिलाफ भी करने की तैयारी की जा चुकी है।

Source: 
Vision News Service

Related News