4 दिवसीय कार्यशाला में सुरक्षा की जानकारी दी

राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी में सड़क सुरक्षा एवं यातायात प्रबंधन विषय पर 4 दिवसीय कार्यशाला का आज गुरुवार को समापन हुआ। समापन दिवस के प्रथम सत्र में एडिशनल एसपी यातायात रायपुर अभिषेक वर्मा ने रोड क्रेश इंवेस्टिगेशन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने साइंटिफिक तरीके से साक्ष्यों का संकलन कैसे किया जाये इस पर विशेष जोर दिया।
दूसरे सत्र में अपर परिवहन आयुक्त ओ.पी. पाल की ओर से सड़क सुरक्षा एवं यातायात प्रबंधन के सिद्धांतों के बारे में जानकारी दी गई। सड़क सुरक्षा की दिशा में ट्रैफिक एवं ट्रांसपोर्ट विभाग की भूमिका तथा ट्रांसपोर्ट विभाग की ओर से की गई पहल - ऑटोमेटेड ड्रायविंग ट्रैक निर्माण, इंस्टीट्यूट ऑफ ड्राइविंग ट्रेनिंग एण्ड रिसर्च इंस्पेक्शन एण्ड सर्टिफिकेशन सेंटर, तथा सुप्रीम कोर्ट कमेटी ऑन रोड सेफ्टी के मुख्य दिशा निर्देश के बारे में विस्तृत जानकारी दी। ओपी पाल ने कार्यशाला में उपस्थित अधिकारियों के पूछे गये प्रश्नों का समाधानकारक जवाब एवं सुझाव देते हुये ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहनों पर अधिक से अधिक चालानी कार्रवाई तथा ड्रायविंग लाइसेंस निलंबन/निरस्तीकरण करने के निर्देश दिए।
लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता एसके कोरी की ओर से रोड सेफ्टी के इंजीनियरिंग पहलु, ब्लैक स्पॉट्स के सुधार के लिए उठाए जाने वाले कदम, रोड साइन एवं मार्किंग, ट्राफिक कामिंग उपाय, क्रैश बैरियर की उपयोगिता, रोड सेफ्टी ऑडिट एवं अन्य महत्वपूर्ण प्रयास के संबंध में प्रेजेन्टेशन के माध्यम् से विस्तृत जानकारी दी। साथ ही एनएचएआई के रीजनल ऑफिसर बी.एल. मीणा की ओर से नेशनल हाइवे पर सड़क सुरक्षा की दिशा में उठाए गए कदमों के बारे मे जानकारी दी। कार्यशाला के सामापन अवसर पर प्रतिभागियों की ओर से कार्यशाला के दौरान दिये गए इनपुट के बारे में अपने अनुभव साक्षा किये तथा फीडबैक दिया।
एडीजी सीआईडी/रेल अरूण देव गौतम ने ट्रैफिक नियमों के संबंध में जनता में जागरूकता लाने, ट्रैफिक नियमों का पालन करने तथा सड़क सुरक्षा के लिये पुलिस को सक्रियता के साथ कार्य करने एवं कार्यशाला में प्राप्त अनुभवों को अपने कार्यक्षेत्र में जनसहभागिता की मदद् से लागू करने पर जोर दिया।
इस अवसर पर एआईजी ट्रैफिक जितेन्द्र सिंह मीणा और एकेडमी के उप निदेशक आरएस नायक, एसपी शशि मोहन सिंह, एडिशनल एसपी संगीता पीटर्स, मिर्जा जियारत बेग एवं जिले से आये राजपत्रित अधिकारी, यातायात प्रभारी, रक्षित निरीक्षक/सूबेदार, निरीक्षक/उपनिरीक्षक स्तर के 72 अधिकारी तथा राज्य पुलिस अकादमी चंदखुरी के 26 प्रशिक्षु डीएसपी उपस्थित थे।

Source: 
visionnewsservice.in

Related News