BREAKING: बजट में शिक्षाकर्मियों की मांगें होगी पूरी! मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शिक्षाकर्मी संघ के नेताओं ने की चर्चा

51882915_1271607186328424_8550035518346231808_n-960x556.jpg

छत्तीसगढ़ के शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है. क्योंकि बजट में शिक्षाकर्मियों की कई मांगें पूरी हो सकती है. शिक्षाकर्मियों की मांगों को लेकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सकारात्मक दिखे हैं. उन्होंने बजट से पहले शिक्षाकर्मी संघ के नेताओं के साथ बैठक की है. मुख्यमंत्री के साथ हुई संघ के नेताओं की चर्चा में बघेल ने कहा सरकार लंबित मांगों को लेकर सकारात्मक है. हम आपसे यही अपेक्षा रखते हैं आप सरकारी स्कूलों को निजी स्कूलों के मुकाबले खड़ा कर देंगे. सरकार शिक्षा व्यवस्था में क्रांतिकारी परिवर्तन लाने की दिशा में तेजी आगे बढ़ना चाहती है. इसमें शिक्षकों की भूमिका सबसे अहम है. लेकिन शिक्षकों को जो सुविधाएं मिलनी चाहिए वह भी जरूरी है. लिहाजा सरकार शिक्षाकर्मियों की मांगों से पहले से ही अवगत है.

मुख्यमंत्री के साथ ये चर्चा शिक्षाकर्मी से विधायक बने चंद्रदेव राय की पहल पर हुई है. विधायक चंद्रदेव राय ने 5 फरवरी की देर रात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से शिक्षाकर्मी संघ के नेता वीरेन्द्र दुबे, संजय शर्मा, केदार जैन, विकास राजपूत सहित संघ के अन्य नेताओं की मुलाकात कराई. इस मुलाकात में सभी नेताओं के साथ भूपेश बघेल ने चर्चा की. चर्चा के दौरान संघ की ओर मुख्यमंत्री से

1998 से नियुक्त व वर्तमान तक पदोन्नति से वंचित समस्त वर्ग को क्रमोन्नति वेतनमान देने.
शेष बचे सभी शिक्षाकर्मियों का संविलियन करने.
प्राचार्य व प्रधान पाठक पद पर पदोन्नति करने.
वर्ग 3 की वेतन विसंगति को समाप्त करने.
पुरानी पेंशन योजना लागू करने.
अनुकम्पा नियुक्ति के लंबित प्रकरण पर टेट व डी एड को शिथिल कर वंचित को अनुकम्पा नियुक्ति देने.
राजपत्र का शीघ्र प्रकाशन करने.
स्थानांतरण को सहज बनाने की मांग की गई.

Source: 
lalluram.com

Related News