Weather

Weather

उत्तर भारत में हो रही बर्फबारी का असर छत्तीसगढ़ में भी, रायपुर में 12 डिग्री न्यूनतम तापमान, जानिए बाकी जिलों का क्या है हाल

weather_3730249_835x547-m.jpg

उत्तर भारत में हो रही भारी बर्फबारी का असर छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिल रहा है. बर्फबारी के कारण छत्तीसगढ़ के तापमान में भी लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है. राजधानी का न्यूनतम तापमान 3 डिग्री से घटकर न्यूनतम तापमान 12 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया है. बिलासपुर का 4 डिग्री से घटकर 10 डिग्री न्यूनतम तापमान पहुंच गया है. वहीं सरगुजा और बस्तर संभाग में अगले 48 घंटे कोहरे रहने के आसार नजर आ रहे है.

बेमौसम बारिश से तालाब बना धान खरीदी केंद्र, पानी में भीग गया किसानों का सैकड़ों क्विंटल धान…

बेमौसम बारिश से तालाब बना धान खरीदी केंद्र, पानी में भीग गया किसानों का सैकड़ों क्विंटल धान…

जूनापारा धान खरीदी केंद्र की पोल बेमौसम बारिश ने खोलकर रख दी है. इसका खामियाजा मासूम किसानों को भुगतना पड़ा है, जिनका बिना तौलाई के खुले में रखा धान बारिश में भीग गया है.

बता दें कि खरीदी केंद्र में दर्जनभर किसान समर्थन मूल्य पर अपना धान बेचने के लिए टोकन कटाने के बाद सप्ताह भर पहले ही केंद्र में आ गए थे, लेकिन धान खरीदी केंद्र प्रभारी के द्वारा बारदाने की कमी होने का हवाला देते हुए धान की तौलाई नहीं की गई. अब बेमौसम बारिश से उनका सैकड़ों क्विंटल धान पानी में डूब गया है. इससे परेशान किसानों के चेहरे में बिक्री को लेकर पशोपेश में पड़ गए हैं.

छग के इस संभाग में ठंड हवाओं के साथ ओले गिरने की संभावना, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

छग के इस संभाग में ठंड हवाओं के साथ ओले गिरने की संभावना, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

देश में मौसम ने अचानक करवट बदल ली है. छत्तीसगढ़ के नार्थ क्षेत्र में अगले 24 घंटे तक भारी बारिश होने की संभावना है. इसको लेकर मौसम विभाग ने प्रदेश में अलर्ट जारी कर दिया है. पश्चिम विक्षोभ के चलते बारिश होने की संभावना है. जिसके चलते आज दिन भर ठंड हवा चलने के आसार है. सुबह का साइक्लोनिक सर्कुलेशन समुद्र तल से 0.9 किमी ऊपर तक फैला हुआ है पूर्वोत्तर उत्तर प्रदेश बनी हुई है. दक्षिण-पश्चिम मध्य प्रदेश के ऊपर सुबह का साइक्लोनिक सर्कुलेशन 1.5 कि.मी. बनी रहती है. जिससे बिलासपुर संभाग में ठंड हवाओं के साथ ओले गिर सकते हैं.

जिले में अब तक 803.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज

बिलासपुर जिले में 1 जून से आज तक 803.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई। अधीक्षक भू-अभिलेख बिलासपुर से मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर तहसील में 733.2 मिमी, बिल्हा में 673.5 मिमी, मस्तूरी में 680.0 मिमी, तखतपुर में 885.9 मिमी, कोटा तहसील में 757.4 मिमी, पेण्ड्रारोड में 899.7 मिमी, पेण्ड्रा में 869.2 मिमी, मरवाही में 932.0 मिमी दर्ज की गई है।

प्रदेश में हल्की बारिश

उत्तर पश्चिम बंगाल की खाड़ी और उसके आसपास कम दबाव का क्षेत्र बना है। इसके संगत 7.6 कि.मी.की ऊंचाई तक चक्रवात बना है और ऊंचाई के साथ दक्षिण-पश्चिम दिशा में मुड रहा है। अलगे 24 घंटों में कम दबाव का क्षेत्र और सुस्पष्ट बनने की संभावना है।

एक बार फिर सक्रिय हुआ मानसून छत्तीसगढ़ समेत इन चार राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

एक बार फिर सक्रिय हुआ मानसून छत्तीसगढ़ समेत इन चार राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी

पिछले एक हफ्ते में कमजोर पड़े मॉनसून ने फिर से रफ्तार पकड़ ली है. मुंबई में पिछले 36 घंटों से बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने अगले 4 दिनों के लिए अलर्ट जारी किया है. केरल, कर्नाटक, ओडिशा, असम और पश्चिम बंगाल में भी बारिश ने जनजीवन को प्रभावित किया है.

अगले 24 घंटों में मध्‍य प्रदेश के दक्षिणी हिस्से, छत्तीसगढ़, महाराष्‍ट्र और गोवा के बड़े हिस्से में भारी से भारी बारिश की चेतावनी है. रायपुर मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश के दक्षिणी इलाके में भारी बारिश होने की संभावना है, जबकि हल्की और मध्यम बारिश पूरे प्रदेश में होने की संभावना है. इसको लेकर विभाग ने ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है. प्रदेश की

जगदलपुर की सडकों पर सैलाब

Rain

पिछले दो दिनों से रुक -रुक कर हो रही बारिश से लोगों को गर्मी और उमस से राहत मिली है। बारिश के कारण नगर के कई सड़कों पर पानी भरने से लोगों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नगर के ड्रेनेज सिस्टम फेल होने के कारण यह समस्या अब बढऩे लगी है।
नगर के शहीद पार्क के पास, अग्रसेन चौक, संजय बाजार, हनुमान मंदिर चौक, पुराना नरेन्द्र टाकिज के पास, धरमपुरा मार्ग पर बारिश का पानी सड़क पर बहने से परेशानियों का सामना करना पड़ा। इसी तरह नगर के सनसिटी व उससे लगे गृह निर्माण मंडल के आवासीय कालोनी में भी जलभराव की स्थिति नजर आईं। ड्रेनेज व्यवस्था सुधारने में नगर पालिक निगम असफल नजर आ रही है।

उत्तरी छत्तीसगढ़ ओला वृष्टि की संभावना

प्रदेश के कई इलाकों में सुबह अचानक मौसम का मिजाज बिगड़ गया। अंबिकापुर में रविवार को काले बादल छाए रहे और अचानक बूंदाबांदी होने लगी। ठंड के बीच हुई बारिश से लोग परेशानी में आ गए और किसनो भी चिंतित नजर आ रहे है। मौसम विभाग के अनुसार प्रदेश में कही कही बारिश होने की संभावना जताई जा रही है। प्रदेश में तापमान सामान्य से काफी अधिक दर्ज की गयी है। प्रदेश का अधिकतम तापमान 29.1 सेन्टीग्रेड व न्यूनतम तापमान 16.3 सेन्टीग्रेड दर्ज की गयी है साथ ही उत्तरी छत्तीसगढ़ ओला वृष्टि की संभावना बनी हुई है।

प्रदेश में जलने लगे अलाव, शीत लहर के आसार

छत्तीसगढ़ में ठंड बढ़ते ही जगह-जगह अलाव जलने शुरु हो गए हैं। सामान्यत: तापमान दिन में शुष्क बना रहता है, लेकिन रात्रि के समय ठंड ठिठूरने को मजबूर कर रही है, लोग सड़कों के किनारे अलाव जलाकर ठंड का आनंद ले रहे हैं।
देश के अलग-अलग प्रांतों दिल्ली, उत्तरप्रदेश, उत्तराखण्ड, पंजाब व बिहार में कड़ाके की ठंड है। बढ़ती ठंड से घने कोहरे के कारण रेल व वायु मार्ग के यातायात प्रभावित हो रहे हैं। लंबे रुट वाली लगभग सभी ट्रेनें अपने निर्धारित समय से काफी विलंब से चल रही है। ठंड का असर छत्तीसगढ़ में भी देखने को मिला रहा है। प्रदेश के सभी संभागों में तापमान सामान्य से काफी कम दर्ज किया गया।

उत्तरी हवा ने बढ़ाई ठंड

प्रदेश में इस समय उत्तरी हवा के साथ घने जंगल वाले क्षेत्र में शीतलहर चल रहा है। राजधानी के आउटर में ठंड का प्रकोप बड़ा है। दुर्ग-बिलासपुर में शीतलहर चल रही है। दोनों शहरों में तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार उत्तर से आ रही हवा से प्रदेश में ठंड और बढऩे के आसार है। रायपुर व बिलासपुर संभाग में कुछ जगह रात का तापमान सामान्य से पांच डिग्री कम है। दिन का तापमान भी 30 डिग्री कम है। राजधानी में बादल साफ रहेगा। आने वालों एक दो दिन में नमी के कारण ठंड बढऩे की संभावना है। मौसम वैज्ञनिकों के अनुसार दिन में तापमान सामान्य रहेगा वहीं रात में हवा चलने से ठंड का अहसास होगा।

Related News