Raipur Updates

BREAKING: रेप के मामले में आईबी अफसर का बेटा गिरफ्तार, कारोबारी के बेटी को दिया था शादी का झांसा

PRASHANT_AAROPI-990x557.jpg

आईबी ऑफिसर के बेटे को पुलिस ने व्यापारी की बेटी का दैहिक शोषण करने के मामले में गिरफ्तार किया है. आईबी ऑफिसर का बेटा प्रशांत कुमार शर्मा को शादी का झांसा देकर व्यापारी की बेटी का बीते छह महीने से दैहिक शोषण कर रहा था, लेकिन अब शादी से इंकार कर रहा है. युवती की शिकायत पर युवक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस से जानकारी के मुताबिक, डीडी नगर निवासी इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) डीएसपी के बेटे प्रशांत कुमार शर्मा का बीते छह महीने से सदर बाजार निवासी 22 वर्षीय युवती से अफेयर चल रहा था. इस बीच युवक ने शादी का झांसा देकर युवती का शारीरिक शोषण करता रहा.

Alert: आज शाम राजधानी की इन 8 टंकियों से नहीं आएगा पानी

water-supply.jpg

नगर निगम की 8 पानी टंकियों से मंगलवार शाम पानी की सप्लाई नहीं होगी.
नगर-निगम अधिकारियों के मुताबिक भाठागांव स्थित इंटेक वेल में पाइप लाइन क्षतिग्रस्त हो गई है यही कारण है कि पानी की सप्लाई प्रभावित होगी. पाइप लाइन के क्षतिग्रस्त होने के कारण पिछले कुछ दिनों से यहां से लाखों लीटर पानी बहकर बर्बाद हो रहा है. वहीं पाइप नदी से पानी को भाठागांव स्थित फिल्टर प्लांट भेजने का काम करता है और उसे साफ कर शहर को पानी की सप्लाई होती है. इसी पाइप लाइन को नगर निगम के कर्मचारी मरम्मत करेंगे.

आज शाम इस इलाके में नहीं होगी पानी की सप्लाई

अंतागढ़ टेपकांड : पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद डॉ पुनीत गुप्ता ने दिया इस्तीफा, एफआईआर के बाद अग्रिम जमानत के लिए लगाई याचिका..

dr-punit-gupta.jpg

पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद डॉ पुनीत गुप्ता ने अंतागढ़ टेपकांड मामले पर एफआईआर दर्ज होने के बाद अपना इस्तीफा दे दिया है. सोमवार दोपहर को उन्होंने अपना इस्तीफा दे दिया. बता दें कि हाल ही में उन्हें दाऊ कल्याण सिंह सुपरस्पेलिटी हॉस्पिटल से अधीक्षक से हटाया था. इसके बदले में उन्हें मेडिकल कॉलेज में ओसीडी बनाया दिया था.

शिक्षाकर्मियों की मुख्यमंत्री से मांग, पहले पूर्ण संविलियन कर राजपत्र में करे प्रकाशित, बिना प्रकाशन के शिक्षा विभाग में भर्ती करना संभव नहीं…

shikshakarmi-2 (1).jpg

छत्तीसगढ़ पंचायत ननि शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष संजय शर्मा ने मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से मांग करते हुए कहा है कि समस्त शिक्षाकर्मियों का संविलियन व शिक्षक व व्याख्याता के रिक्त पदों पर पदोन्नति के साथ सहायक शिक्षक के पद पर सीधी भर्ती किया जाए, जब तक सेवा शर्तों (राजपत्र) का प्रकाशन नहीं हो जाता तब तक भर्ती संभव ही नहीं है.

भूपेश कैबिनेट की बैठक आज, बजट सत्र को लेकर मंत्रिमंडल से चर्चा…शिक्षाकर्मियों, कर्मचारियों की लंबित मांगों को मिल सकती मंजूरी

25-12-2018-1545745563.jpg

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आज मंत्रिमंडल की महत्वपूर्ण बैठक लेने जा रहे हैं. बजट सत्र से पहले होने जा रहे इस बैठक में कई लंबित मांगों पर चर्चा के साथ मंजूरी मिलने की संभावना है. खास तौर पर भूपेश सरकार अपने पहले बजट में ही शिक्षाकर्मियों और कर्मचारियों की लंबित मांगों को पूरा कर सकते हैं. ऐसे में आज की कैबिनेट में लंबित मांगों को मंजूरी मिल सकती है. वहीं बैठक में शिक्षा और स्वास्थ्य के कई महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा हो सकती है. स्वास्थ्य मंत्री बैठक में थाईलैंड दौरे के अनुभव को साझा करते स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधी प्रस्ताव रख सकते हैं जिन्हें की बजट में शामिल किया जाए.

आखिर विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने पत्रकारों को कार्यक्रम से क्यों चले जाने को कहा, और पत्रकारों ने कार्यक्रम का क्यों किया बहिष्कार?…

201802091737334385_Charandas-mahant-start-Hasedev-Janayatra-on-14-Feb_SECVPF.jpg

जांजगीर चांपा जिले के पत्रकारों ने विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत के कार्यक्रमों का बहिष्कार कर दिया है. महंत ने भी गुस्से होते हुए पत्रकारों को चले जाने के लिए कह दिया. दरअसल जिला मुख्यालय के शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला में सोमवार को जाज्वल्य देव लोक महोत्सव का आयोजन किया गया, जिसमें चरणदास महंत पहुंचे थे. महंत के मंच पर पहुंचते ही स्थानीय पत्रकारों ने जिला पंचायत सीईओ अजीत वसंत को हटाने की मांग करने लगे. पत्रकारों का कहना था कि सीईओ का व्यवहार मीडियाकर्मियों के साथ अच्छा नहीं है, जिसके चलते सीईओ को हटाने की मांग कर रहे हैं. महंत ने पत्रकारों को शांत हो जाने की समझाइश दी.

खेल प्रतियोगिता में भाग लेने में आर्थिक तंगी बन रही थी बाधा, मुख्यमंत्री ने खिलाड़ियों को दी आर्थिक मदद

bhupesh_baghel-min-1-392x272.jpg

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश के दो प्रतिभावान खिलाडि़यों को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए आर्थिक सहायता मंजूर की है. मुख्यमंत्री ने स्वेच्छानुदान मद से रायपुर शहर के गुढि़यारी निवासी कुमारी सृष्टि वर्मा और धरसींवा विकासखण्ड के नगर पंचायत कुरा के राकेश कुमार पाल को खेल प्रतियोगिताओं में हिस्सा लेने के लिए अपने स्वेच्छानुदान मद से 60 हजार और 15 हजार रुपए की राशि स्वीकृत की है.

रायगढ़ जिला न्यायालय में चल रहा फर्जी ऋण पुस्तिका पर जमानत लेने का खेल, तहसीलदार की जांच में मिली तीन फर्जी ऋण पुस्तिकाएं..

raigarh-court-11.jpg

तहसील कार्यालय में जांच के लिए भेजी गई चार ऋण पुस्तिकाओं में तीन फर्जी पाए गए. पटवारी से कराई गई जांच में कूट रचना कर ऋण पुस्तिका बनाए जाने की पुष्टि होने रक अग्रिम कार्रवाई के लिए मामला जिला एवं सत्र न्यायालय को भेजा गया है.

गौरतलब है कि जमानत की प्रक्रिया में होने वाले छेड़छाड़ को देखते हुए माननीय उच्च न्यायालय ने ऋण पुस्तिका की जांच राजस्व विभाग के माध्यम से कराए जाने का निर्देश दिया हुआ है. इसी क्रम में सोमवार को तहसील कार्यालय के तहसीलदार शिवानी जयसवाल ने दाऊ सिंह पिता संतराम निवासी देवबहाल, तहसील जिला, रायगढ़ के नाम से 4 ऋण पुस्तिकाएं पाई गई, और इन चारों पर जमानत ली गई है.

होर्डिंग्स लगाने वाली एड एजेंसियों पर 78 लाख बकाया, निगम ने थमाया नोटिस, टेंडर निरस्त करने की दी चेतावनी

durg1_2200269_835x547-m-1-959x556.jpg

शहर में पिछले लंबे समय से सारे नियम कायदों को ताक पर रखकर अवैध रुप से होर्डिंग्स ऑपरेट किए जा रहे हैं. निगम ने शहर को 6 जोन में बांटकर 6 एजेंसियां तय कर रखी हैं, जिन्हें निर्धारित संख्या में होर्डिंग्स की अनुमति प्रदान की गई है. बावजूद इसके इन सभी 6 जोन में करीब 86 अवैध होर्डिंग्स लगाए जाने की जानकारी के बाद निगम ने एजेंसियों को नोटिस जारी किया. इसके बाद जुर्माना भी लगाया.

धरने पर बैठी ममता बनर्जी का अजीत जोगी ने किया समर्थन, कहा – केंद्र सरकार राज्यों के अधिकार को छिनने का काम कर रही है …

IMG_20190204_133501-1-990x556.jpg

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने धरने पर बैठी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का समर्थन किया है. साथ ही उन्होंने मुख्यमंत्री और सीबीआई के बीच उत्पन्न हुए टकराव के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार माना है. अजीत जोगी ने बयान देते हुए कहा कि हम पूरी तरह ममता बनर्जी के साथ है. देश में संविधान निर्माताओं ने एक फेडरल व्यवस्था कायम की है.इसमें केंद्र सरकार को भी पावर दिया गया है लेकिन कानून व्यवस्था का सवाल है तो इसका पूरा अधिकार राज्य सरकार का है.