Gariaband

Gariaband New District of Chhattisgarh

खनिज विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई, कई खदानों को किया सील, रेत माफियाओं में मचा हड़कंप

खनिज विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई, कई खदानों को किया सील, रेत माफियाओं में मचा हड़कंप

प्रशासनिक अनदेखी से क्षेत्र में खनन माफियाओं के द्वारा किये जा रहे अवैध उत्खनन पर बुधवार को खनिज विभाग ने ताबडतोड़ कार्रवाई किया. ग्रामीणों द्वारा जिले के आला अधिकारियों के पास पहुंच रही शिकायतों पर जिला कलेक्टर ने खनिज विभाग को कार्रवाई करने के सख्त निर्देश दिया गया. जिसके तहत खनिज विभाग ने 5 उत्खननकर्ताओं से पोकलेन मशीन सहित कई वाहन जब्त किये गये. मौके पर उत्खनन करते पकड़े गये इन खनन माफियों पर खनिज अधिनियम 1957 की धारा 21(4)(5) तथा छ.ग. गौण खनिज नियम 2015 के नियम 71 के तहत, अर्थदंड़ लगाया गया.

इन स्थानों पर किया जा रहा था अवैध उत्खनन का कार्य

शिक्षक के बाइक की डिग्गी से मिले 10 लाख रुपए नगद, पूछताछ के दौरान जांच अधिकारियों को करता रहा गुमराह

शिक्षक के बाइक की डिग्गी से मिले 10 लाख रुपए नगद, पूछताछ के दौरान जांच अधिकारियों को करता रहा गुमराह

प्रदेश में लगी आचार संहिता के दौरान सीमावर्ती राज्यों से आने-जाने वाले वाहनों की विशेष जांच अभियान चलाया जा रहा है.इसी तारतंम्य में मंगलवार की शाम करीब पांच खुटगांव सीमा में एक शिक्षक के मोटर बाइक की डिग्गी से 10 लाख रुपए बरामद किया गया. जिसमें 500 से 20 नोटों के बंडल मिले. जांच अधिकारियों के द्वारा लंबी रकम ले जा रहे संदिग्ध शिक्षक बंशीधर दास को पकड़ कर पूछताछ की जा रही है. वही थाना प्रभारी सत्येंद्र श्याम ने बताया कि 10 लाख रुपए जप्त कर सीआरपीसी की धारा 102 के तहत कार्रवाई की जा रही है.

पूछताछ में करता रहा गुमराह

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 1 नवम्बर से

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 1 नवम्बर से

कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आयोजित समय-सीमा की बैठक में निर्वाचन कार्य और सभी विभाग के कार्यो की समीक्षा की गई। कलेक्टर की अध्यक्षता में हुई बैठक में धान खरीदी केन्द्रों में समर्थन मूल्य पर 1 नवम्बर से शुरू होने वाले धान खरीदी के लिए की जा रही तैयारियों के बारे में अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने कहा कि नियत समय पर धान और मक्का उत्पादक सभी किसानों का पंजीयन सुनिश्चित कराएं। उप सचंालक कृषि ने बताया कि धान खरीदी के लिए नया पंजीयन हो रहा है और पुराने पंजीयन के कैरी फारवर्ड की कार्रवाई की जा रही है। बैठक में अपर कलेक्टर केके बेहार, जिला पंचायत सीईओ आरके खुटे, उप जिला निर्वाचन अधिकारी जेआर चौरसिया, संय

पड़ोसी राज्य से प्रदेश में पहुंच रहा अवैध शराब की बड़ी खेप, पुलिस के लिए बनी चुनौती, चुनाव में हो सकता है इस्तेमाल

पड़ोसी राज्य से प्रदेश में पहुंच रहा अवैध शराब की बड़ी खेप, पुलिस के लिए बनी चुनौती, चुनाव में हो सकता है इस्तेमाल

छत्तीसगढ़ की पड़ोसी राज्य ओडिशा सीमा पर ओडिशा से कच्ची शराब की तस्करी की जा रही है. 60 लीटर कच्ची शराब का खेप फिर देवभोग थाने में पकड़ाया है ओडिशा सीमा से लगे इस थाने में पिछले 15 दिनों में लगभग 145 लीटर शराब जब्त किया जा चुका है. विधानसभा चुनाव के दौरान भारी खेप में शराब की तस्करी पुलिस के लिए चुनौती बन गया है. कच्ची शराब को बकायदा पानी की पाउच की तरह पैकेट में पैक कर तस्करी किया जा रहा है. इस मामले में एसपी ने कहा कि यहां की पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही, साथ ही कालाहांडी के उच्चाधिकारियों से सम्पर्क कर अवैध तस्करी को नियंत्रण करने पर चर्चा किया जा रहा है.

यहां पूरे गांव ने चुनाव बहिष्कार का लिया निर्णय, किसी ने वोट डाला तो लगेगा जुर्माना

यहां पूरे गांव ने चुनाव बहिष्कार का लिया निर्णय, किसी ने वोट डाला तो लगेगा जुर्माना

जिले के भैरी गुड़ा गांव के लोगों को समस्या बढ़ती जा रही है, जिसको देखते हुए ग्रामीणों ने चुनाव बहिष्कार का निर्णय ले लिया है. ग्रामीणों की मांग है कि गांव में सड़क नहीं होने से इमरजेंसी में निजी डॉक्टर भी आने को कतराते है . खाट में लाद कर मरीज व गर्भवती को अस्पताल पहुंचाना पड़ता है. इनका कहना है कि ग्रामीण यदि चुनाव बहिस्कार का निर्णय नहीं मानते है और वोट करने जाते है तो उनसे हर्जाना के रूप में पैसे लिए जाएंगे और उसी पैसे से सड़क का निर्माण कराया जाएगा.

यहां रावण को पूजते हैं आदिवासी, किया रावण दहन का विरोध

यहां रावण को पूजते हैं आदिवासी, किया रावण दहन का विरोध

एक तरफ जहां पूरे देश में विजयादशमी के दिन रावण दहन किए जाने की परंपरा है, वहीं छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले के मूल निवासी आदिवासी समाज ने इस परंपरा का विरोध जताया है। इस संबंध में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व देवभोग को आदिवासियों ने मांग पत्र भी सौंपा है।

तितली तूफान की वजह से दिनभर छाये रहे बादल

ओडिशा व आंध्रप्रदेश में सक्रिय चक्रवाती तूफान ` तितली`` की वजह से जिले में दिनभर बादल छाये रहे। सर्द हवाएं चलती रही। पिछले कुछ दिनों से दिन में तेज धूप की तपिश से लोगों को राहत मिली है। मौसम विभाग की ओर से जारी की गई चेतावनी के अनुसार अगले 24 घंटे में जिले में भारी बारिश की संभावना है।

बिंद्रानवागढ़ में बदली चुनावी फिजां

जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आते जा रही हैं। वैसे-वैसे राजनीति फिजा भी बदल रही है। बिंद्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र में भी कुछ ऐसे ही नजारे देखने को मिल रही हैं। यहां कांग्रेस और भाजपा के बीच बाहरी बनाम विकास के मुद्दे पर सियासी जंग होगी। तीसरी पार्टी को अपने अस्तित्व बचना क¢ भी लाले पड जाएंगे।

कभी अविभाजित मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री थे यहां के विधायक

छत्तीसगढ़ के गरियाबंद जिले में दो विधानसभा हैं राजिम और बिंद्रानवागढ, आज की परिस्थिति में बिंद्रानवागढ विधानसभा में 2 लाख 10 हजार 520 मतदाता हैं। बहुत कम लोगों को जानकारी होगी कि आजादी के बाद 1952 में बिंद्रानवागढ़ और देवभोग युग्म (ड्यूल) विधानसभा थी, इसमें से बिंद्रानवागढ़ का प्रतिनिधित्व खूबचंद बघेल और देवभोग का प्रतिनिधित्व गौकरण सिंह ठाकुर करते थे। आपको ये भी बता दें कि 1957 में श्यामाचरण शुक्ल बिंद्रानवागढ से विधायक चुने गए थे। कहा जाता है कि श्यामाचरण शुक्ल ने अपनी राजनैतिक पारी की शुरुआत बिंद्रानवागढ से ही की थी, आगे चलकर 1962 में इस विधानसभा को अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित कर दिया गय

एक सप्ताह के भीतर लायसेंसी शस्त्र जमा करें : कलेक्टर

जिला दण्डाधिकारी ने विधानसभा चुनाव के निष्पक्ष और शांतिपूर्ण चुनाव के लिए गरियाबंद जिला सीमा क्षेत्र के भीतर रहने वाले सभी शस्त्र लायसेंसियों को आदेश किया गया है कि वे अपने-अपने अस्त्र-शस्त्र 7 दिवस के भीतर नजदीकी पुलिस स्टेशन में जमा करें। विधानसभा निर्वाचन की समाप्ति तक के लिए गरियाबंद जिला सीमा क्षेत्र के भीतर रहने वाले शस्त्र लायसेंसियों के शस्त्र लायसेंस निलंबित किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त लायसेंसी अपने शस्त्र गरियाबंद नगर के शस्त्र डीलर जिनके पास शस्त्र डिपोजिट करने अनुज्ञप्ति है, वहां भी जमा कर सकते हैं। जो व्यक्ति शस्त्र डीलर थानेवार जानकारी तैयार कर संबंधित थाने में और दण्डाधिकारी कार