Mahasamund

CG-06, Mahasamund

छात्रावास की दीवार फांदकर परिसर में घुसे, बच्चों को डंडे से धमकाया

खम्हरिया के प्री मैट्रिक आदिवासी बालक छात्राास के बच्चे इन दिनों गांव के दो युवकों के कारनामे से सहमे हुए हैं। इसकी जानकारी छात्रावास अधीक्षक को होने के बाद भी अब तक एफआईआर दर्ज नहीं कराया गया है। छात्रावास के चौकीदार गिरवर सिंह ठाकुर ने 10 नवंबर को सहायक आयुक्त आदिवासी विकास विभाग को लिखित सूचना देते हुए अवगत कराया कि 4 नवंबर की शाम रात 9 बजे गांव के दो युवक छात्रावास की दीवार फांदकर परिसर में घुस गए और बच्चों को डर-धमका कर खिड़की पर डंडे से वार कर बच्चों को नींद से उठाने का प्रयास किया। बाद दोनों छात्रावास के अंदर जाकर बच्चों को शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताडि़त भी किया। इधर, सहायक आयुक्त न

मरार पटेल समाज कार्यकारिणी की बैठक हुई

कोसरिया मरार पटेल समाज कार्यकारिणी की बैठक पटेल भवन पिथौरा में हुई। बैठक में विभिन्न प्रस्तावों पर चर्चा हुई। प्रमुख रूप से युवक-युवती परिचय सम्मेलन पिथौरा के खेल मैदान में करने, मां शाकंभरी की पूजा-अर्चना और सांस्कृतिक कार्यक्रम होगा। कलश यात्रा, 10वीं-12वीं, बीएससी, बीए, एमए, एमएससी जिन्होंने 70 प्रतिशत से ऊपर अंक अर्जित किए हों उनका सम्मान, राज के समाज के विशेष कार्य करने वाले व्यक्तियों का सम्मान, राज्य स्तरीय खेलकूद में हिस्सा लेने वाले बच्चों का सम्मान और छत्तीसगढ़ महासंघ का सम्मेलन होगा। इसमें 15 हजार पदाधिकारी और स्वजातीय बंधु उपस्थित होंगे। सम्मेलन 7 जनवरी को होगा। जिसकी अध्यक्षता रा

वार्ड 16 में सड़क डामरीकरण के लिए हुआ भूमिपूजन

सोमवार को नपाध्यक्ष ने वार्ड 16 में 2.88 लाख रुपए की लागत से प्राची एडवरटाईजर से नीलकंठ चौक तक सड़क डामरीकरण के लिए भूमिपूजन किया। सड़क की गुणवत्ता के साथ भविष्य में सड़क पर जल भराव ना होने को लेकर संबंधित ठेकेदार से के मध्य से दोनों सोल्डर तक वी ढाल देने कहा है ताकि भविष्य में जल भराव रोका जा सके।

लहरौद में हुआ बांझपन निदान शिविर

प्राथमिक पशु चिकित्सा विभाग पिथौरा की ओर से ग्राम लहरौद में पशु बांझपन निदान और बधियाकरण शिविर हुआ। शिविर डॉ. डीडी झरिया, उप संचालक पशु चिकित्सा सेवा महासमुंद के मार्गदर्शन और डॉ. डीके अग्रवाल के निर्देशन में हुआ। शिविर में 5 बांझपन, 1 गाय का कृत्रिम गर्भाधान और 29 पशुओं का उपचार और 6 नाटो का बधियाकरण और 17 औषधि बांटा गया, जिसमें 18 पशुपालक लाभान्वित हुए। शिविर में डॉ.

शिविर से मिलती है समाज सेवा की प्रेरणा : मोती

ग्राम भोरिंग में राष्ट्रीय सेवा योजना का सात दिवसीय शिविर श्याम विद्या मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय महासमुंद की ओर से हुआ। मुख्य अतिथि भाजपा नेता मोती साहू, अध्यक्षता गोपा साहू उपाध्यक्ष जिला पंचायत और विशिष्ट अतिथि संस्था की डायरेक्टर तारा चंद्राकर, सरपंच प्रतिनिधि देवनाथ साहू और डेरहू साहू ने किया।

राष्ट्रीय टेनिस क्रिकेट में प्रमिला को गोल्ड

शासकीय विद्यालय खट्टी कक्षा 10वीं की छात्रा प्रमिला ध्रुव ने शालेय राष्ट्रीय टेनिस क्रिकेट प्रतियोगिता 22 से 26 नवंबर तक बिलासपुर में छग राज्य का प्रतिनिधित्व करते हुए गोल्ड मेडल प्राप्त कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। प्राचार्य केएस सोरी, सरपंच डॉ. दूजराम साहू, शिक्षक एसके साहू, व्यायाम शिक्षक गणेशराम कोसरे, सहायक ग्रेड 3 पूजा शर्मा, प्रफुल्ल लहरे, रवि कुमार राठिया और स्टाफ ने हर्ष व्यक्त करते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की।

गायत्री मंदिर संचालन के लिए समिति बनी

ग्राम अरंड में प्रज्ञापीठ गायत्री मंदिर संचालन के लिए समिति का गठन किया गया। संचालन प्रमुख कमल सिंह ध्रुव, सदस्य रोहित राणा, जयसिंग ठाकुर, जयसिंग नेगी, परस दीवान, ताराचंद पटेल, पुनीतराम पटेल, गौरी पटेल, दुकालू ध्रुव, डोंगर सिंग ठाकुर, मनराखन दीवान को संचालन समिति में शामिल किया गया है। बैठक में जिला समन्वयक बाबूराम साहू, उपजोन सह समन्वयक मनहरण साहू, महेंद्र ठाकुर बागबाहरा, पिथौरा क्षेत्र से तुकाराम पटेल, साहेबराम पटेल, कीर्तन दीवान, सुरेंद्र साव मौजूद थे।

संविधान दिवस पर बाबा साहेब का स्मरण

भारतीय संविधान दिवस पर अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति वेलफेयर एसोसिएशन जिला महासमुंद की ओर से भारतीय संविधान के निर्माता भारत रत्न डॉ.

महासमुंद बना विजेता, चांदनी, डिगेंद्र चुने गए श्रेष्ठ खिलाड़ी

जिला बॉल बैडमिंटन संघ के तत्वावधान में स्थानीय मिनी स्टेडियम में दो दिवसीय 17वीं राज्य स्तरीय बाल बैडमिंटन प्रतियोगिता होगी। बालक वर्ग में महासमुंद प्रथम, बलौदाबाजार द्वितीय, बीएसपी तृतीय और बिलासपुर की टीम ने चतुर्थ स्थान मिला। इसी तरह बालिका वर्ग में प्रथम बीएसपी, द्वितीय कोरबा, तृतीय बालोद और चतुर्थ स्थान दुर्ग को मिला।

कुनकी हाथियों को छत्तीसगढ़ लाने सरकार की स्वीकृति का इंतजार

कुनकी हाथियों को छत्तीसगढ़ लाने सरकार की स्वीकृति का इंतजार

सिरपुर क्षेत्र में पिछले दो साल से जमे 19 सदस्यीय जंगली हाथियों को जंगल से खदेडऩे के लिए वन विभाग कर्नाटक से कुनकी हाथियों को छत्तीसगढ़ लाने के लिए पूरी तैयारी कर चुका है। लेकिन कुनकी हाथियों को छत्तीसगढ़ भेजने के लिए कर्नाटक सरकार की स्वीकृति अब तक विभाग को नहीं मिल पाई है। विभाग को कर्नाटक सरकार की स्वीकृति का इंतजार है।