Chhattisgarh

हमर छत्तीसगढ़ योजना : उज्ज्वला योजना से पर्यावरण का बचाव, जंगलों की रक्षा

0F3BC74D841429CA30BDA980B17E935F.jpg

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से महिलाएं न केवल धुएं और कालिख से मुक्ति पा रही हैं, बल्कि इससे पर्यावरण की सुरक्षा भी हो रही है। खाना पकाने के लिए रसोई गैस का इंतजाम होने से अब जंगल से लकड़ी लाने का झंझट खतम हो गया है। जलाऊ लकड़ी के लिए होने वाली जंगल की कटाई भी रूक गई है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से गृहिणियों, बच्चों एवं बुजुर्गों के साथ ही परिवार के सभी सदस्यों की सेहत सुरक्षित हो गई है।

इंद्रावती पर नई नहर बनाना चाहता है ओडिशा

indrawati.jpg

महानदी जल को लेकर ओडिशा से जारी विवाद के बीच छत्तीसगढ़ ने उनकी एक और सिंचाई परियोजना पर आपत्ति जताई है। राज्य के जल संसाधन विभाग ने बस्तर की प्रमुख नदी इंद्रावती पर पड़ोसी राज्य के नवरंगपुर जिले में बनी अपर इंद्रावती परियोजना खातीगुड़ा से नवरंगपुर सिंचाई परियोजना के निर्माण का विरोध किया है। विभाग का कहना है कि परियोजना में नई नहर का निर्माण कर 15 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए करीब पांच टीएमसी पानी का उपयोग ओडिशा करेगा। इससे नदी में जलसंकट गहराने की आशंका है। ओडिशा से 1975 में हुए समझौते के बाद इस प्रोजेक्ट से प्रदेश को जल की तय मात्रा मिलना मुश्किल हो सकता है। नवरंगपुर सिंचाई परियोज

भूख और क्रूरता से गायों की हत्या पर कोई कानून क्यों नहीं- मो. अकबर

IMG_5553.jpg

छत्तीसगढ़ में इन दिनों बीजेपी सरकार गाय के मुद्दे पर जबर्दस्त तरीके से घिर गई है। वजह इसके पीछे ये भी क्योंकि गाय की रक्षा को लेकर बीजेपी सरकार की ओर से कहा जाता कि गौ हत्या करने वाले को सुली पर लटका देंगे। लेकिन बीजेपी के नेता ही जब गौ हत्या फंस गए हैं तो सरकार सीधे तौर पर निशाने पर गई है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मोहम्मद अकबर ने रमन सरकार इसे लेकर बड़ा सवाल खड़ा किया है। अकबर का कहना है कि छत्तीसगढ़ सरकार जब 2003 में सत्ता में आई तो गोरक्षा के नाम पर गौ सेवा आयोग बना दी। और यहीं से शुरू गौ सेवा के नाम पर गायों के साथ क्रूरता का खेल। अकबर का कहना है कि जिस गौ सेवा आयोग गठन किया गया उसमें पुलिस

छत्तीसगढ़ में प्लास्टिक चावल महज़ एक अफवाह- छ.ग. शासन

Rice

आखिरकार छत्तीसगढ़ में प्लास्टिक की चावल की जो खबरें आ रही थीं वो महज़ अफ़वाह साबित हुई. छत्तीसगढ़ शासन ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कहीं भी प्लास्टिक चावल नहीं मिला है. ये महज़ एक अफवाह साबित हुआ है. इस बात की जानकारी स्वास्थ्य एवं खाद्य नागरिक आपूर्ति विभाग की सचिव ऋचा शर्मा ने एक प्रेस कांफ्रेंस में दी.

उन्होंने कहा कि फूड एंड सेफ्टी विभाग द्वारा 20 जिलों में चावल के सेंपल की जांच की गई थी. जिसमें कहीं भी प्लास्टिक की चावल नहीं मिली है. उन्होंने कहा कि फिर भी ऐतियातन सरकार हर 6 महीने में चावल की लेबोरेटरी जांच कराएगी.

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना : छत्तीसगढ़ में 13.83 लाख महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन

926D7DEC0DA1436B859C17797FA67190.jpg

प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत छत्तीसगढ़ में गरीब परिवारों की महिलाओं को राज्य शासन द्वारा निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन का वितरण तेजी से किया जा रहा है। लगभग एक वर्ष पहले शुरू की गई इस योजना के तहत राज्य में अब तक 13 लाख 83 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ में इस योजना की शुरूआत 13 अगस्त 2016 को मुख्यमंत्री डॉ.

कम बारिश वाले क्षेत्रों में कार्ययोजना तैयार करें : कलेक्टर

16 F-f.jpg

गुरुवार को जैजैपुर क्षेत्र के विभिन्न गावों का निरीक्षण कलेक्टर और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी अजीत वसंत ने किया। उन्होंने टेल एरिया वाले ग्राम भनेतरा, बरेकेलखुर्द, झालखरौंदा, लालमाटी सहित कई गावों का निरीक्षण किया। कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन ने सिचाई विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे नहरों में पानी का अधिकतम बहाव छोड़ें। नहरों की नियमित मानिटरिंग करें। नहरों के पार काटने और बहाव को बाधित करने वालों के खिलाफ थानों में एफआईआर दर्ज करवाएं। एक सप्ताह के भीतर बारिश सामान्य नहीं होने की स्थित में फसल क्षति का आंकलन कर कार्ययोजना बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए हैं।

बस्तर के 600 प्रतिनिधि आये राजधानी के अध्ययन भ्रमण पर

Chhattisgarh Mantralay

हमर छत्तीसगढ़ योजना के तहत बस्तर के करीब 600 पंच-सरपंच दो दिनों के अध्ययन भ्रमण पर रायपुर आए हुए हैं। इनमें बस्तर जिले के 176, कांकेर के 172, कोंडागांव के 155 और बीजापुर जिले के 95 पंचायत प्रतिनिधि शामिल हैं। अध्ययन भ्रमण के दूसरे दिन गुरूवार को उन्होंने छत्तीसगढ़ विधानसभा, इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, स्वामी विवेकानंद विमानतल और साइंस सेंटर का भ्रमण किया। बीजापुर के पंचायत प्रतिनिधि भ्रमण के लिए चंपारण भी गए।

दरिंदगी ऐसी की रूह कांप उठे, जला दिया 1 माह की बच्ची को

Bachhi-0101-225x300.jpg

3 महीने की इस बच्ची को देखकर आपकी रूह भी कांप जाएगी.. कहानी ऐसी की मानवता भी शर्मा जाए…ज़ख्म ऐसा कि वह भी रो पड़े.. लेकिन उन्हें थोड़ी भी शर्म नहीं आई.. इस फूल सी नाजुक मासुम पर तरस नहीं आया.. उनके हाथ जरा भी कांपे नहीं.. जब इस मासूम को वो जला रहे थे.. कहने को तो नाना-नानी थे..लेकिन काम ऐसा किया जो शैतान भी करने से पहले हजार बार सोचे..

जब ये सिर्फ एक महीने की थी, बच्ची को हंसिये से जला दिया गया था..2 महीने तक मौत से लड़ने के बाद बच्ची को बचाया जा सका है…पर हालत अभी भी नाजुक है..

छत्तीसगढ़ में तीन महिलाओं की चोटी रहस्यमय तरीके से कटी

चोटी कटी

पहली घटना भिलाई के खुर्सीपार थाने क्षेत्र की माँ और बेटी की चोटी कटी मिली. सड़क न2 दो की रहने वाली गीता देवी आज दोपहर में अपने घर पर सोई हुई थी उठने के बाद उसने देखा कि बिस्तर पर करीब 6 इंच लम्बा बाल के गुच्छा पडा हुआ है तभी उसका ध्यान अपने सिर के बालों पर गया उसके अपने बाल कटे हुए थे. वो काफी घबरा गई थी. उसने अपनी बिटिया को पानी के लिये आवाज लगाई.

4 शहीद जवानों समेत 28 को मुख्यमंत्री ने किया सम्मानित

Jawan

स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्य के 28 पुलिस अधिकारियों और जवानों को सम्मानित किया। 7 जवानों को वीरता पदक से सम्मानित किया गया, जिनमें चार शहीदों को मरणोपरांत वीरता पदक से सम्मानित किया। जिनमें शहीद पंकज सूर्यवंशी आरक्षक जिला नारायणपुर, शहीद सीताराम कुंजाम आरक्षक 317 थाना भैरमगढ़ जिला बीजापुर , शहीद पायकू पोयामी, शहीद मोतीराम दिलाओ आरक्षक जिला बीजापुर, रमेश कुमार नाग आरक्षक जिला नारायणपुर, चाणक्य नाग निरीक्षक थाना उसूर जिला बीजापुर, ओमप्रकाश सेन कंपनी कमांडर एसटीएफ बघेरा दुर्ग।