Bijapur

Bijapur

ग्रामीणों ने मसीह समाज के 13 लोगों के साथ किया मारपीट, कलेक्टर से सुरक्षा की गुहार लगाने पहुंचा समाज

01-990x556.jpg

जिले में अब आदिवासी समाज धर्मांतरण के खिलाफ आक्रामक होने लगे है. जिले के बेदरे थाने के करकेली गांव में रविवार नियमित चर्च में प्रार्थना कर रहे 13 लोगों पर गांव वालों ने कहर बरपाते हुए मारपीट की. जिसके बाद आज मसीह समाज के लोग उनका विरोध करते हुए सड़क पर उतर आए हैं. कलेक्टर से मुलाकात कर अपनी सुरक्षा और जान बचाने की गुहार लगा रहे हैं.

विकास विरोधी माओवादियों के बदले सुर, सरकार के सामने रखी ये 17 मांगें…

WhatsApp-Image-2019-01-30-at-2.05.55-PM-709x1024.jpeg

छत्तीसगढ़ में सरकार बदलते ही माओवादियों के भी सुर बदल गए है. नक्सलियों के पामेड़ एरिया कमेटी ने पर्चा जारी करते हुए सरकार से पिछड़े इलाके के विकास के लिए 17 मांगें रखी है. माओवादियों ने पर्चे फेंककर सरकार से पिछड़े इलाकों का विकास करने के लिए अस्पताल, स्कूल, शिक्षकों और डॉक्टरों की नियुक्ति की मांग की है.

युक्ति युक्तकरण के तहत राज्य भर में बंद किए गए 3000 स्कूलों को पुनः चालू करने सरकार से गुहार लगाई है. स्कूल कॉलेजों में विषयवार शिक्षकों के नियुक्ति की मांग उठाई है. विनाश प्रिय नक्सलियों ने पहली बार अपने आधार इलाके में सरकार से विकास की मांग की है.

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के कई गांवों में आज भी मूलभूत सुविधाओं की कमी

नक्सल प्रभावित क्षेत्र के कई गांवों में आज भी मूलभूत सुविधाओं की कमी

नक्सल प्रभावित अंदरूनी इलाकों में पूर्व सरकार बुनियादी सुविधा उपलब्ध नहीं करा पाई। महज जिला और तहसील मुख्यालय तक विकास सिमित रहा, जिसके कारण कई गंाव आज भी बुनियादी सुविधा से वंचित हैं।

देखिए वन मंत्री जी! इंद्रावती परियोजना में नियमों को ताक पर रखकर खेला जा रहा है प्रभारवाद का खेल?

देखिए वन मंत्री जी! इंद्रावती परियोजना में नियमों को ताक पर रखकर खेला जा रहा है प्रभारवाद का खेल?

छत्तीसगढ़ में सत्ता परिवर्तन तो हो गया, लेकिन व्यवस्था में अब भी परिवर्तन नहीं हो पाया है. बीजापुर वन विभाग और इंद्रावती टाइगर रिज़र्व में अभी भी प्रभारवाद सर चढ़ कर बोल रहा है. सालों से नियमों को ताक पर रख डिप्टी रेंजर व फारेस्टर (वन रक्षक) को रेंज अफसर बना कर बिठाया गया है. इतना ही नहीं इन्द्रावती टायगर रिजर्व में तो खुद उपसंचालक भी प्रभारी हैं.

बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

जिले में पिछले बाईस घंटे से मूसलाधार बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त है जिनके कारण धान खरीदी केन्द्रों में पानी भर जाने से लाखों का धान खराब हो गया। अधिकारिक जानकारी के अनुसार जिले के आवापल्ली-भैरमगढ़, भोपालपटनम विकासखंड के गांव में भारी वर्षा हो रही है। लोगों का घर से निकलना दूभर हो गया है। छोटे नाले के पुल पर जलस्तर बढऩे से कहीं-कहीं आवागमन भी बंद है, कहीं कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है।

जिला अधिवक्ता संघ ने की विधायक से मुलाकात

जिला अधिवक्ता संघ ने की विधायक से मुलाकात

जिला अधिवक्ता संघ बीजापुर के अधिवक्ताओं ने नवनिर्वाचित विधायक विक्रम मंडावी से मुलाक़ात कर जीत की बधाई दी। साथ ही अधिवक्ताओं ने विधायक विक्रम मण्डावी से बीजापुर में जिला न्यायालय खोलने की माँग की। इस पर विधायक विक्रम मण्डावी ने जिला न्यायालय खोलने के लिए हर सम्भव प्रयास करने का आश्वासन दिया।
अधिवक्ता संघ इससे पहले भी कई बार बीजापुर में जिला सत्र न्यायालय खोलने की मांग पूर्व वन एंव विधि-विधायी मंत्री महेश गागड़ा से भी कई बार मांग की, लेकिन उन्होंने हमेशा ही सबंधित विभाग के मंत्री रहने के बावजूद भी जिला न्यायालय की मांग को नजरअंदाज किया।

फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनाकर आरक्षण लाभ लेने वालों का विरोध शुरू

फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनाकर आरक्षण लाभ लेने वालों का विरोध शुरू

देशभर में आरक्षण को लेकर माहौल गरमाया हुआ है। वैसा ही माहौल बस्तर संभाग के जिलों में बना हुआ है। बस्तर का क्षेत्र आदिवासियों का बहुमूल्य संख्या वाला क्षेत्र है। आदिवासियों को आरक्षण मिलने के बावजूद भी क्षेत्र में आदिवासियों को मूलभूत सुविधा और शिक्षा का स्तर क्षेत्र में नहीं पहुंच पाया इसलिए आदिवासी का जनजीवन जैसे का वैसी है।
आदिवासी समाज का मानना है कि अन्य प्रदेश और अन्य जाति के आदिवााासी समाज नाम से आज भी क्षेत्र में जाति प्रमाण पत्र बनाकर भूमि की खरीदी बिक्री कर और शासन प्रशासन से आरक्षण का लाभ ले रहे हैं।

जैतालूर कोदई माता मेले के साथ बस्तर में मेले की शुरुआत

जैतालूर कोदई माता मेले के साथ बस्तर में मेले की शुरुआत

बीजापुर जिले के पहले मेले के साथ जैतालुर में सोमवार से तीन दिवसीय मेले का शुभारंभ हो गया है। कोदई माता मेले के साथ ही बस्तर में मेलों की शुरुआत भी होती है। शहर से 3 किमी की दूरी पर स्थित जैतालुर गांव में सोमवार को कोदईमाता के दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से बड़ी संख्या में पहुंचे और माता के आशीर्वाद लिए। नए वर्ष के साथ ही पहले मेला और मड़ई का आगाज जिले में जैतालुर से होता है।

निर्माण कार्य में गुणवत्ता को प्राथमिकता दें : विक्रम मंडावी

निर्माण कार्य में गुणवत्ता को प्राथमिकता दें : विक्रम मंडावी

जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित पहली बैठक में क्षेत्रीय विधायक विक्रम मंडावी ने निर्माण एजेंसियों से कहा कि किसी भी स्थिति में निर्माण कार्यों की गुणवत्ता खराब नहीं होनी चाहिए। सभी निर्माण कार्य समय-सीमा में और गुणवत्ता के साथ पूरे किए जाने के निर्देश बैठक में दिए गए। समीक्षा बैठक में कलेक्टर के.डी.कुंजाम, सीईओ जिला पंचायत डी. राहुल वेंकट सहित सभी विभागों के अधिकारी मौजूद थेे।

जिले की कई आश्रम शालाएं जर्जर

जिले की कई आश्रम शालाएं जर्जर

जिला मुख्यालय के कई आश्रम शालाएं संचालित होती हैं। जिन्हें आदिम जाति कल्याण विभाग शाखा की ओर से संचालित किया जा रहा है। एक तरफ विभाग का नाम के अनुरूप किसी भी आश्रम शाला में काम नहीं है वहीं दूसरी ओर बालक और बालिकाओं के लिए आश्रम शालाओं में उचित व्यवस्था भी नहीं है। समय-समय पर खुद आयुक्त, बीओ, एबीओ, मंडल संयोजक, आश्रम शालाओं का निरीक्षण करते मिलते हैं। लेकिन कई आश्रम में आज भी जरूरी सुविधाएं नहीं हैं। वैसे देखा जाए तो इन आश्रम शाला में बच्चों के लिए उचित व्यवस्था की यह जिम्मेदारी आदिम जाति कल्याण विभाग शाखा की है। लेकिन कई आश्रम शाला देखते ही ऐसा लगता है आदि जमाने में संचालित है।