Bijapur

Bijapur

आदिम जाति कल्याण विभाग नहीं कर पा रहा आदिवासी बच्चों के भविष्य का कल्याण

आदिम जाति कल्याण विभाग नहीं कर पा रहा आदिवासी बच्चों के भविष्य का कल्याण

जिला मुख्यालय के कई आश्रम चलाएं संचालित होती हैं, जिन्हें आदिम जाति कल्याण विभाग शाखा संचालित कर रहा है। एक तरफ विभाग के नाम के अनुरूप किसी भी आश्रम शाला में काम नहीं है वहीं दूसरी ओर बालक और बालिकाओं के लिए आश्रम-शालाओं में उचित व्यवस्था भी नहीं है। समय-समय पर खुद आयुक्त, बीईओ, एबीओ, मंडल संयोजक, आश्रम शालाओं का निरीक्षण करते मिलते हैं, परंतु कई आश्रम आज भी जरूरतों के मोहताज हैं। वैसे देखा जाए तो इन आश्रम शाला में बच्चों के लिए उचित व्यवस्था की जिम्मेदारी आदिम जाति कल्याण विभाग की है। परंतु कई आश्रम शाला देखते ही ऐसा लगता है, आदि जमाने में संचालित है और हो रहे हैं।

विधायक मंडावी का गंगालूर में ग्रामीणों ने किया स्वागत

विधायक मंडावी का गंगालूर में ग्रामीणों ने किया स्वागत

नक्सल प्रभावित गांव गंगालूर पहुंचे क्षेत्रीय विधायक का ग्रामीणों ने बाजे-गाजे के साथ भव्य स्वागत किया। ग्रामीणों ने विधायक विक्रम मंडावी के आगमन पर उन्हें फूलमाला पहनकर उनकी आगवानी की।
विधानसभा का सत्र खत्म होते ही विधायक विक्रम मंडावी क्षेत्र के मतदाताओं का आभार व्यक्त करने गांव-गांव पहुँच रहे हैं। इसी क्रम मे रविवार को विधायक मंडावी अपने समर्थकों के साथ गंगालूर पहुंचे। ग्रामीण ने उनका भव्य स्वागत करते हुए उन्हें बुनियादी सुविधा के लिए ज्ञापन सौपा।इससे पहले मंडावी चेरपाल व रेड्डी गांव पहुंचकर ग्रामीणों से मिले और उनका आभार व्यक्त किया।

नारायणपुर जिले के चार गांवो के ग्रामीण आश्रित बीजापुर जिले पर

नारायणपुर जिले के ओरछा ब्लाक के चार गांव के 1200 के लगभग ग्रामीण आज भी बीजापुर जिले पर आश्रित हैं। पत्रकारों का दल जब कवरेज के लिए बेदरे गया तो वँहा कुछ ग्रामीण राशन लेकर नदी की तरफ जाते नजर आए। तो पत्रकारों का दल भी इंद्रावती नदी के तट पर गया तो देखा कि ग्रामीण बड़ी परेशानी से नदी पार कर चावल सहित अन्य राशन सामग्री लेकर जा रहे थे। पूछने पर ग्रामीणों ने बताया की वो नारायणपुर जिले के है लेकिन उनका राशन बेदरे में ही मिलता है। इस दौरान वँहा लंका बालक आश्रम के अधीक्षक पण्डाराम भी अपने 50 सीटर आश्रम के लिए कुछ बच्चों के साथ आये हुए थे। उन्होंने बताया कि हमारा ओरछा होते हुए नारायणपुर जाने का कोई मार

नारायणपुर जिले के चार गांवो के ग्रामीण आश्रित बीजापुर जिले पर

नारायणपुर जिले के ओरछा ब्लाक के चार गांव के 1200 के लगभग ग्रामीण आज भी बीजापुर जिले पर आश्रित हैं। पत्रकारों का दल जब कवरेज के लिए बेदरे गया तो वँहा कुछ ग्रामीण राशन लेकर नदी की तरफ जाते नजर आए। तो पत्रकारों का दल भी इंद्रावती नदी के तट पर गया तो देखा कि ग्रामीण बड़ी परेशानी से नदी पार कर चावल सहित अन्य राशन सामग्री लेकर जा रहे थे। पूछने पर ग्रामीणों ने बताया की वो नारायणपुर जिले के है लेकिन उनका राशन बेदरे में ही मिलता है। इस दौरान वँहा लंका बालक आश्रम के अधीक्षक पण्डाराम भी अपने 50 सीटर आश्रम के लिए कुछ बच्चों के साथ आये हुए थे। उन्होंने बताया कि हमारा ओरछा होते हुए नारायणपुर जाने का कोई मार

बीईओ ने अनुपस्थित छ: शिक्षकों पर की वेतन कटौती की कार्रवाई

बीईओ ने अनुपस्थित छ: शिक्षकों पर की वेतन कटौती की कार्रवाई

जिले के बीजापुर ब्लॉक में गंगालूर क्षेत्र में दबिश देकर बी ई ओ ने 6 गैर हाजिर शिक्षकों पर वेतन काटने की कार्रवाई कर शो काज नोटिस जारी किया है। दौरे में शिक्षकों को गुणवत्ता में कमी पाए जाने पर 1 माह के भीतर बच्चों का स्तर सुधारने की हिदायत दी गई है। इस दौरान बीईओ के साथ पीएम फेलो समीर शौकीन, बीआरसी, एबीईओ भी मौजूद रहे।

मजदूरी के लिए भटक रहे श्रमिक

उसूर ब्लॉक के पंचायतों में बीते वर्ष कराए गए कामों का मजदूरी भुगतान आज पर्यन्त तक नहीं हो सका है। मजदूरी भुगतान नहीं होने से अब पंचायतों के कामों से मजदूर परहेज कर पड़ोसी राज्यों में काम करने जा रहे हैं।

महाराष्ट्र के सिरोंचा से भोपालपटनम के बीच बस सेवा शुरू

छत्तीसगढ़ व बीजापुर जिले के अंतिम छोर पर स्थित भोपालपटनम से महाराष्ट्र के सिरोंचा तक महाराष्ट्र राज्य परिवहन की ओर से बस सेवा शुरू की गई है। इससे पहले यह बस इंद्रावती नदी पार पातागुडेम तक ही चलाई जा रही थी। इस बस के शुरू होने से क्षेत्रवासी काफी खुश हैं।

तहसीलदार के फर्जी हस्ताक्षर-सील लगा कर डायवर्सन करने वाला इंजीनियर गिरफ्तार

तहसीलदार के फर्जी हस्ताक्षर-सील लगा कर डायवर्सन करने वाला इंजीनियर गिरफ्तार

एसडीएम कार्यालय में तीन जनवरी को बेरोजगार इंजीनियर अरविंद कुछ लोगों के डायवर्सन के कागजात लेकर कार्यालय पंहुचा। दस्तावेज जमा किए। इस दौरान एसडीएम राहुल वेंकट को डायवर्सन के दस्तावेज में तहसीलदार द्वारा दिये गए अनापत्ति प्रमाण पत्र की सील और हस्ताक्षर पर संदेह हुआ। उन्होंने तत्काल चपरासी के माध्यम से कागजात तहसील ऑफिस भेज कर पता किया तो वहां से किसी भी प्रकार का अनापत्ति पत्र नहीं देने की बात पता चली। एसडीएम राहुल वेंकट के पूछने पर आरोपी ने फर्जी सील और हस्ताक्षर करने की बात कबूल की। एसडीएम ने तत्काल आरोपी युवक को कोतवाली भेज कार्रवाई के निर्देश दिए। कोतवाली पुलिस ने आरोपी अरविंद पर आईपीसी की ध

बम लगाते 3 मिलिशिया सदस्य गिरफ्तार

बम लगाते 3 मिलिशिया सदस्य गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में थाना जांगला क्षेत्र से 7 जनवरी को बम लगाते तीन मिलिशिया सदस्यों को पकड़ा गया था। तीनों को सोमवार 7 जनवरी को गिरफ्तार किया गया। आज मंगलवार को न्यायिक रिमाण्ड पर न्यायालय पेश किया गया।
बीजापुर पुलिस अक्षीक्षक मोहित गर्ग ने आज बताया कि 4 जनवरी को थाना जांगला से डीआरजी और थाना जांगला का बल जप्पेमरका की ओर नक्सली गश्त सर्चिंंग पर रवाना हुये थे। नक्सली अभियान के बाद 7 जनवरी को वापसी के समय पुलिस पार्टी को जान से मारने व हथियार लूटने की नीयत से बम लगाते हुये 3 नक्सलियों को टीम ने पकड़ा था। तीनों से अलग-अलग पूछताछ की गई।

2 स्थायी वारण्टी गिरफ्तार

2 स्थायी वारण्टी गिरफ्तार

थाना मद्देड़ से थाना प्रभारी निरीक्षक प्रदीप जायसवाल, उप निरीक्षक अमित कशयप व थाना स्टॉफ ने ग्राम सेण्ड्रेल में फरार 2 स्थाई वारंटी आरोपियों को पकड़ा है। पकड़े गए आरोपियों में सुखराम पिता ईश्वर (24 वर्ष) साकिन सेण्ड्रेल और लाला उर्फ लालैया (34 वर्ष) साकिन सेण्ड्रेल थाना मद्देड़ शामिल हैं। उक्त दोनों के विरुद्ध न्यायालय ने स्थायी वारण्ट जारी किया था।