भूपेश का जोगी पर काउंटर अटैक, कहा – मोदी और जोगी में कई समानताएं, दोनों झूठ बोलने में माहिर, दोनों के पास हैं जेल जा चुके अमित

bhupesh.jpg

अंतागढ़ टेप कांड में एफआईआर दर्ज होने के बाद जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के सुप्रीमो अजीत जोगी के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ का मोदी कहे जाने पर पलटवार करते हुए कहा कि मुझमें और मोदी में कोई समानता नहीं है, बल्कि जोगी और मोदी में बहुत समानता है. दोनों का न केवल सरनेम मिलता है, बल्कि दोनों लच्छेदार भाषण करते हैं, दोनों की बात में सच्चाई नहींं होती. दोनों के पास अमित हैं, जो हत्या के मामले में 10 महीने तक निरुद्ध रहे हैं.

उत्तरप्रदेश, बिहार और दिल्ली की यात्रा कर छत्तीसगढ़ लौटे मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पत्रकारों से चर्चा में कहा है कि उनकी उत्तर प्रदेश और बिहार की यात्रा सार्थक रही है. तीन राज्यों में कांग्रेस की जीत का असर पूरे देश में है. उन्होंने कहा कि पूरा देश राहुल गांधी को मोदी के विकल्प के रुप में देख रही है.

अंतागढ़ टेप कांड के मामले में कहा कि जो एसआईटी का गठन हुआ है, उसके बाद कोई अधिक आवेदन देता है, तो अगर ऐसा ही उपयुक्त मानेगी तो उसे जांच में शामिल कर लेगी. वहीं सीडी कांड की जांच दूसरे प्रदेश में कराए जाने की भाजपा प्रदेश प्रभारी डॉ. अनिल जैन की मांग पर उन्होंने कहा कि अनिल जैन को कुछ समझ नहीं है. जो उनको बोला गया वह बोल दिया. जब जांच प्रक्रिया पूरी हो गई, कोर्ट में पेश हो गया, लोगों ने जमानत ले ली तो बचा क्या है. क्या उनको न्यायालय व्यवस्था में विश्वास नहीं है. जो मामला न्यायालय में हो उसे स्थानांतरित करने का सवाल ही पैदा नहीं होता.

बीजेपी संवैेधानिक संस्थाओं को कमजोर करने में लगी
कोलकाता में सीबीआई को लेकर सीएम ममता बैनर्जी के धरना दिए जाने पर भूपेश बघेल ने कहा कि बीजेपी लगातार संवैधानिक संस्थाओं को कमजोर करने में लगी है, और सीबीआई के जितना नीचे गिरा सकते थे, गिरा चुके हैं. उसकी विश्वसनीयता अब समाप्त हो चुकी है. अब उसका दुरुपयोग किस प्रकार से कर रहे हैं वह कल पश्चिम बंगाल में दिखाई दी. जिस प्रकार से आईबी हो, सीबीआई हो, सीवीसी हो, सब का दुरुपयोग हो रहा है. वह पूरा देश देख रहा है. बदले की भावना से केंद्र सरकार कार्रवाई कर रही है. जहां तक सीबीआई चीफ का यह कहना छत्तीसगढ़ सरकार से बात की जाएगी, मुझे इसकी जानकारी नहीं है. लेकिन मैं बताना चाहूंगा कि बीजेपी की सरकार ने 2012 में ही गजट नोटिफिकेशन किया था. भारत सरकार के पास पत्र भेजा था वह दूर था, उसे हमने पूरा करने के लिए पत्र लिखा है तो पहले वह अपने आका से पूछ ले.

Source: 
lalluram.com

Related News