होर्डिंग्स लगाने वाली एड एजेंसियों पर 78 लाख बकाया, निगम ने थमाया नोटिस, टेंडर निरस्त करने की दी चेतावनी

durg1_2200269_835x547-m-1-959x556.jpg

शहर में पिछले लंबे समय से सारे नियम कायदों को ताक पर रखकर अवैध रुप से होर्डिंग्स ऑपरेट किए जा रहे हैं. निगम ने शहर को 6 जोन में बांटकर 6 एजेंसियां तय कर रखी हैं, जिन्हें निर्धारित संख्या में होर्डिंग्स की अनुमति प्रदान की गई है. बावजूद इसके इन सभी 6 जोन में करीब 86 अवैध होर्डिंग्स लगाए जाने की जानकारी के बाद निगम ने एजेंसियों को नोटिस जारी किया. इसके बाद जुर्माना भी लगाया.

एजेंसियों ने मांग की कि उन्हें किश्तों में राशि जमा करने की अनुमति दी जाए. इसके बाद निगम ने अनुमति दी, लेकिन कुछ राशि जमा कराई गई, शेष अब भी जमा नहीं कराई गई. यह खेल पिछले करीब 2 सालों से चल रहा. अब तक निगम इन एजेंसियों ने निर्धारित राशि तक वसूल नहीं पाई है. वर्ष 2017-18 व वर्ष 2018-19 में ओवर साइज व अतिरिक्त होर्डिंग्स के अलावा वर्ष 2018-19 की टेंडर राशि का करीब 78 लाख 23 हजार 368 रुपए बकाया है. अब तक निगम ने इसकी वसूली को लेकर गंभीरता नहीं दिखाई है.

किस पर कितना बकाया-

दीपक एडवरटाइजर्स को 193 होर्डिंग्स की अनुमति है. ओवर साइज व अतिरिक्त होर्डिंग्स का वर्ष 2017-18 में 12 लाख 48 हजार रुपए चार्ज किया गया. इसमें से 7 लाख 66 हजार 681 रुपए अब भी अप्राप्त है. वर्ष 2018 में भी 12 लाख 48 हजार रुपए चार्ज किया गया. वहीं वर्ष 2018-19 में ठेके की राशि 19,97,710 रुपए जमा नहीं कराया गया है. इस प्रकार करीब 40,12,391 रुपए का नोटिस जारी किया गया है.
सुमंगल एडवरटाइजर्स को जोन 3 व 6 के लिए अधिकृत किया गया है. क्रमश: 97 व 46 कुल 143 होर्डिंग्स की अनुमति प्रदान की गई. ओवर साइज व अतिरिक्त होर्डिंग्स वर्ष 2017-18 में एजेंसी को 4 लाख 14 हजार का नोटिस भेजा गया. इसमें 4,536 रुपए चेक से जमा कराया गया. शेष 4,09,662 रुपए अप्राप्त है. वहीं 2018 में 4 लाख 14 हजार रुपए जुर्माना किया गया. वर्ष 2018-19 में टेंडर राशि 5,09,410 रुपए जमा नहीं कराया गया. इस प्रकार कुल 13,33,072 रुपए अप्राप्त है.
संजरी एडवरटाइजर्स को जोन 2 के लिए अधिकृत किया गया है. 57 निर्धारित मापदंडों के अनुरूप होर्डिंग्स की अनुमति दी गई है. ओवर साइज व अतिरिक्त होर्डिंग्स वर्ष 2017-18 में लगाए जाने पर 6,25,800 रुपए जुर्माना किया गया. इसमें 2,31,543 रुपए जमा कराया गया. शेष अप्राप्त है. वहीं वर्ष 2018-19 में 6,25,800 रुपए का जुर्माना किया गया. इसके अलावा इस वर्ष की टेंडर राशि 4,97,310 रुपए जमा नहीं कराई गई. कुल 15,17,367 रुपए अब भी अप्राप्त है.
जीजे एडवरटाइजर्स को जोन-4 व 5 में 72 व 26 कुल 98 होर्डिंग्स की अनुमति है. ओवर साइज व अतिरिक्त होर्डिंग्स का वर्ष 2017-18 में 4,32,000 रुपए जुर्माना है. इसमें महज 1,70,872 रुपए जमा कराया गया. वर्ष 2018 में भी 4,32,000 रुपए अप्राप्त है. वहीं इसी वर्ष की टेंडर राशि 2,67,410 रुपए भी जमा नहीं कराई गई. इस प्रकार कुल 9,60,538 रुपए अब तक अप्राप्त है.
जारी किया अंतिम नोटिस

दुर्ग नगर निगम के राजस्व अधिकारी आरके पांडेय ने कहा कि हमने अंतिम नोटिस जारी किया है. इसके बाद भी यदि विज्ञापन एजेंसियां जुर्माना व ठेके की राशि जमा नहीं कराती हैं, तो उन पर कार्रवाई होगी. सबसे पहले हम ठेका निरस्त करेंगे.

Source: 
lalluram.com

Related News