चिप्स दफ्तर से ईओब्ल्यू ने जब्त किए दस्तावेज और इलेक्ट्रानिक्स सामान, 17 विभागों से मांगा टेंडर का डाटा

01-13-883x556.jpg

टेंडर घोटाले की जांच में जुटी ईओडब्ल्यू ने चिप्स के दफ्तर में छापा मारकर न केवल दस्तावेज बल्कि इलेक्ट्रानिक्स सामान भी जब्त किए हैं. इसके साथ ही ईओडब्ल्यू ने 17 विभागों से टेंडर की जानकारी मांगी है.

तेलंगाना में फिर बनाया गया मजदूरों को बंधक, रात के दो बजे तक लिया जाता है काम, सरकार से मदद की लगाई गुहार

bandhak.jpg

गरियाबंद से काम की तलाश में गए मजदूरों को एक बार फिर बंधक बनाने का मामला सामने आया है. इस बार देवभोग के सौ से ज्यादा मजदूरों को बंधक बनाया गया है, इसमें महिलाएं और 50 से ज्यादा बच्चों के शामिल होने की जानकारी मिल रही है.

निगम के सफाई कर्मचारियों के लिए बनाया जाएगा तीन मंजिला अपार्टमेंट, भेजा गया पौने तीन करोड़ रुपए का प्रस्ताव

nigam.jpg

राजधानी के बांसटाल गांधीनगर की खाली पड़ी जमीन पर नगर निगम सफाई कर्मचारियों के लिए तीन मंजिला अपार्टमेंट बनाएगा. इस संबंध में नगर निगम के योजना विभाग ने प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगरीय प्रशासन विभाग को प्रस्ताव बनाकर भेजा है, जिसकी स्वीकृति मिलते ही गांधीनगर से भाठागांव में व्यवस्थापित 64 सफाई कर्मचारियों को उनके ही स्थान पर फ्लैट मिलने का रास्ता खुल जाएगा.

माओवादियों के भारत बंद का नक्सल प्रभावित क्षेत्र में मिला-जुला असर, दहशत फैलाने की ग्रामीण की हत्या, वाहनों को भी फूंका…

naxal-1600 (1).jpg

छत्तीसगढ़ – महाराष्ट्र सीमावर्ती क्षेत्र में नक्सलियों ने भारत बंद के मद्देनजर जमकर उत्पात मचाया है. बीते कुछ दिनों से माओवादियो ने इलाके में बैनर पोस्टर के जरिए 31 जनवरी भारत बंद का आह्वान किया था, जिसका पखांजुर क्षेत्र में मिला-जुला असर भी देखने को मिल रहा है.

सुपेबेड़ा… अंतहीन मौतें- एक और ग्रामीण की हुई मौत, आंकड़ा पहुंचा 70 पर

supebeda.jpg

सुपेबेड़ा में अंतहीन मौतों का सिलसिला जारी है. यहां एक और ग्रामीण ने किडनी बीमारी से दम तोड़ दिया है. इसके साथ ही यहां मौतों का आंकड़ा बढ़कर 70 पर पहुंच गया है. लगातार हो रही मौतों की वजह से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है.

भवानी सिंह
मृतक ग्रामीण का नाम भवानी सिन्हा है. बताया जा रहा है कि वह पिछले तीन साल से किडनी बामारी से पीड़ित था. मृतक के परिजनों ने राजधानी के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल मेकाहारा और ओडिशा के निजी अस्पताल में उसका इलाज करा चुके हैं.

नक्सलियों का भारत बंद का आह्वान, यातायात बाधित करने पेड़ काटकर सड़क पर डाले, बैनर-पोस्टर लगाकर जताया विरोध, तस्वीरों में देखिये

IMG-20190131-WA0157-1275x742.jpg

31 जनवरी को नक्सलियों ने भारत बंद पर जमकर उत्पात मचाया है. धमतरी जिले के सिहावा बोराई मार्ग में नक्सलियों ने यातायात को बाधित करने के लिए पेड़ काटकर सड़क में डाल दिया है. जिसकी वजह से यातायात अवरुद्ध है.

नक्सलियों ने ग्राम आठदहरा के पास इस करतूत को अंजाम दिया है. इसके साथ ही उन्होंने वहां पर बीच सड़क में अपना बैनर और पोस्टर लगा दिया है. बैनर पोस्टर और पंपलेट में नक्सलियों ने भारत बंद का जिक्र किया है. उन्होंने नक्सल इलाकों में फोर्स द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन समाधान का विरोध किया गया है.

राजेश मूणत मौलश्री विहार में हुए शिफ्ट, कहा- जनहित के कार्य करते रहूंगा…

प्रदेश के पूर्व मंत्री एवं भाजपा नेता राजेश मूणत गुरुवार को अपने निजी निवास मौलश्री विहार में प्रवेश किये. वीआईपी रोड स्थित आवास में पूरे विधि विधान के साथ मूणत ने गृह प्रवेश किया. मूणत अपने विधानसभा क्षेत्र के लोगों की समस्याओं का समाधान करने और उनसे मुलाकात करने के लिए शुक्रवारी बाजार पहाड़ी चौक स्थित अपने कार्यालय में दोपहर के बाद उपस्थित रहेंगे.

बदलापुर की राजनीति में टूट रहा भाजपा कार्यकर्ताओं का मनोबल, साथ में खड़ा होने वाला नेता चाहिए, बनाएं बृजमोहन अग्रवाल को प्रदेशाध्यक्ष…

brijmohan-11.jpg

विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद भारतीय जनता पार्टी में मचा कोहराम खत्म होता नजर नहीं आ रहा है. एक तरफ प्रदेशाध्यक्ष धरमलाल कौशिक के खिलाफ पार्टी के भीतर से विरोध के स्वर उभर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर बृजमोहन अग्रवाल को प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने की मांग जोर पकड़ रही है.

डिलीवरी के लिए आई महिला को जेएमजे मॉर्निंग स्टार हॉस्पिटल ने बनाया बंधक, महिला बच्चा खोने के गम में बिलखती रही और प्रबंधक प्रताड़ित करते रहे…

b41d92d3-d705-43ec-b33f-d5d81a030576-990x556.jpg

डिलीवरी के लिए आई महिला को जिले के जेएमजे मॉर्निंग स्टार हॉस्पिटल के प्रबंधकों ने बंधक बना लिया. पैसे का भुगतान करने की मांग को लेकर उन्हें प्रताड़ित किया गया. जबकि डॉक्टर महिला के बच्चे को भी बचा नहीं पाए. वह दोहरी दुख से बिलखती रही. लेकिन निष्ठुर प्रबंधक लगातार पैसे की मांग किए जा रहे थे.

दरअसल महिला के परिवार ने गरीब होने से इलाज के लिए पूरे पैसा एक साथ देने में असमर्थता जताई. बावजूद इसके अस्पताल प्रबंधक नहीं माने. तब परिजनों ने स्मार्ट कार्ड दिया और 24 घंटे बाद प्रबंधन के द्वारा स्मार्ट कार्ड का अप्रूवल नहीं होना बताया, और लगातार पैसे की मांग कर परिवार को मानसिक प्रताड़ना देते रहे.

राहत भरी खबर- राजधानी से लापता तीनों बच्चों को पुलिस ने 24 घंटे के भीतर खोज निकाला, यहां से किया बरामद

InShot_20190130_134047979-990x556-2-990x556.jpg

उरला के सुभाष नगर से लापता हुए तीनों बच्चों को पुलिस ने सकुशल खोज निकाला है. पुलिस ने तीनों बच्चों को राजधानी रायपुर के रेलवे स्टेशन से बरामद किया है. जिसके बाद उन्हें खमतराई थाना लाया गया है. जहां बच्चों से पुलिस अधिकारी पूछताछ करेंगे. पूछताछ के बाद ही बच्चों के लापता होने और स्टेशन में मिलने के पीछे की सही वजह सामने आ सकेगी. फिलहाल बच्चों के मिलने से जहां पुलिस को राहत मिली है वहीं बच्चों के परिजनों को जब यह खबर मिली तो उनकी आंखें खुशी से छलक गई.